उत्तराखंड: अब जौनसार का विशाल बना नेवी में अफसर, देवभूमि से सेना को मिला एक और जाबांज

vishal joshi navey
खबर शेयर करें

देवभूमि में एक के बाद एक प्रतिभाएं अपना डंका बजा रही है। विगत दिवस पुलवामा हमले में शहीद मेजर विभूति ढौडीयाल की पत्नी निकिता ढौडीयाल लेफ्टिनेंट बनी। वहीं नैनीताल की नैनिका सब लेेफ्टिनेंट बनी। अब जौनसार के निवासी विशाल जोशी नेवी में अधिकारी बने है। पहाड़ों में पले-बढ़े विशाल ने मंजिल पाकर अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया।

Ad

वह केरल के इंडियन नवल एकेडमी से पास आउट होकर नौ सेना में अफसर बने। उनकी इस उपलब्धि पर स्वजन और स्थानीय निवासियों ने बधाई दी। जनजाति क्षेत्र जौनसार-बावर के बमटा खत के सुदूरवर्ती अस्टाड गांव निवासी देवदतत जोशी और कविता जोशी की तीन संतानों में विशाल जोशी सबसे बड़े पुत्र हैं। एक साधारण परिवार में जन्म लेने वाले विशाल ने आठवीं तक की पढ़ाई चकराता के कैंट विद्यालय से की। इसके बाद 10वीं और 12वीं की पढ़ाई विकासनगर के सैपियंस पब्लिक स्कूल से की और स्नातक की शिक्षा डीएवी कॉलेज देहरादून से प्राप्त की।

Ad

पढ़ाई के प्रति समर्पित विशाल का वर्ष 2020 में भारतीय तट रक्षक बल में बतौर असिस्टेंट कमांडेट के पद पर हुआ। इसके बाद वह प्रशिक्षण के लिए इंडियन नवल एकडेमी केरल चले गए, जहां एक साल का प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद वह शनिवार को पास आउट होकर भारतीय तट रक्षक बल में अफसर बने। उनके अफसर बनने के बाद गांव में खुशी का माहौल है। उसके पिता देवदत्त जोशी सेना में चतुर्थ श्रेणी के पद पर कार्यरत हैं जबकि माता कविता
जोशी गृहणी हैं।

Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: अब बृजेश रावत बने करोड़पति, Dream-11 में जीते एक करोड़ रूपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *