उत्तराखंड: ईमानदारी की मिसाल है यूएसनगर के पहले DM संधू, अब CM धामी ने दी मुख्य सचिव की जिम्मेदारी

IAS SANDHU AND CM DHAMI
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Uttarakhand: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शपथ लेने के बाद सबसे पहले मुख्य सचिव की नियुक्ति की। सीएम धामी एक ऐसा नाम लाये जिन्हें नई पीढी जानती नहीं है। केन्द्र नेे भी आईएएस सुखबीर सिंह संधू को रिलीव कर दिया। जिसके बाद उन्होंने उत्तराखंड के नये मुख्य सचिव की जिम्मेदारी संभाली है। संधू ईमानदार और सख्त है। इसलिए वह सीएम धामी की पहली पसंद बने है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: एसडीएम संगीता कनौजिया का निधन, सड़क हादसे में हुई थी घायल

चंडीगढ़ की तर्ज पर रुद्रपुर का करना चाहते थे विकास

बता दें कि 30 सितंबर 1995 को उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्ममंत्री मायावती नेे ऊधम सिंह नगर जिला बनाने की घोषणा की थी। जिसकेे बाद एक अक्टूबर को यूपी के मुख्य सचिव के तत्कालीन विशेष सहायक पद पर तैनात सुखबीर सिंह संधू को ऊधमसिंह नगर का पहला जिलाधिकारी बनाया गया। संधू रुद्रपुर शहर को चंडीगढ़ की तर्ज पर विकसित करना चाहते थे। अपनी कार्यशैली से संधू ने कम समय में जनता का दिल जीत लिया। उन्होंने नजूल भूमि व अतिक्रमित क्षेत्र की वीडियोग्राफी कराई थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:(बड़ी खबर)-सगाई के दौरान हुआ हादसा, 5 बच्चों को लगा करंट

केवल तीन माह में कर दिया तबादला

ईमानदार व सख्त मिजाज के जिलाधिकारी संधू अतिक्रमणकारियों के सख्त खिलाफ थे। उन्होंने ब्लॉक परिसर में स्थित जर्जर ट्रेङ्क्षनग सेंटर भवन को कलक्ट्रेट बनाया। बगवाड़ा मंडी में आवास व मंडी गेस्ट हाउस को कैंप कार्यालय बनाया। संधू डीएम कैंप कार्यालय में शाम छह से रात 12 बजे तक अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ बैठक कर नए जिले के विकास की प्लानिंग पर चर्चा करते थे। उनकी खासियत थी कि वह कम खर्च में टिकाऊ विकास कार्य को अहमियत देते थे। 31 दिसंबर 1995 को केवल तीन माह में ही उनका ट्रांसफर करा दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *