Mucormycosis: क्या है (Black Fungus) ब्लैक फंगस, शुरूआती लक्षण और जानिये इसके उपाय

Mucormycosis (Black Fungus)
खबर शेयर करें

Health Tips: कोरोनावायरस (COVID-19) के साथ-साथ भारत में ब्लैक फंगस Mucormycosis (Black Fungus) ने भी कहर मचाना शुरू कर दिया है। चिकित्सक भी Mucormycosis (Black Fungus) म्यूकोर्मिकोसिस यानि की ब्लैक फंगस को नई चुनौती मान रहे है। इससे निपटने के लिए हमें एहतियात और तैयारी करने की जरूरत है। एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया, एम्स के डॉ. पीयूष रंजन सहित विशेषज्ञों ने कहा कि एक बार संक्रमित होने पर इस फंगल संक्रमण का जल्द पता लगने से मरीजों की जान बच सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  Health Care: खाने में शामिल करें ये 10 फूड और पाएं स्वस्थ दमकती त्वचा

आइये जानते है क्या है म्यूकोरमायकोसिस यानी ब्लैक फंगस Mucormycosis (Black Fungus)

ब्लैक फंगस का मेडिकल नाम म्यूकॉरमायकोसिस Mucormycosis (Black Fungus) है। यह एक दुर्लभ व खतरनाक फंगल संक्रमण है। ब्लैक फंगस इंफेक्शन वातावरण, मिट्टी जैसी जगहों में मौजूद म्यूकॉर्मिसेट्स नामक सूक्ष्मजीवों की चपेट में आने से होता है। ऐसे में अगर हम सांस लेते है तो इन सूक्ष्मजीवों के सांस द्वारा अंदर लेने या स्किन तक पहुंचने की संभावना रहती है। यह अक्सर शरीर में साइनस, फेफड़े, त्वचा और दिमाग पर हमला करता है।

ये है शुरूआती लक्षण  (Mucormycosis or Black Fungus Symptoms)

कोरोना मरीज को दिन के उजाले में नाक, गला और आंखों के आसपास चेहरे की सूजन, मलिनकिरण, दर्द आदि के लिए पूरे चेहरे की जांच करनी चाहिए। इसके अलावा दांतों का ढीला होना, मुंह के अंदर का काला क्षेत्र आदि शुरूआती संकेत है। ऐसे में आप तुंरत डॉक्टर से संपर्क करेें। चिकित्सकों की सलाह दी है कि कोविड-19 से ठीक होने के दौरान और बाद में ब्लड शुगर लेवल की भी जांच करते रहना चाहिए। म्यूकोर्मिकोसिस एक फंगल संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैल सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  Skin Care Tips: ये 2 फेशियल एक्सरसाइज से हटाये चेहरे की झुर्रियां

कैसे करें का रोकथाम (Black Fungus Treatment)

Mucormycosis (Black Fungus) ब्लैक फंगस जैसे लक्षण दिखने पर बिल्कुल न घबराये। डॉ. त्रेहन ने कहा कि इस बीमारी की पहचान होगीं उतनी जल्दी इसका इलाज होगा। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि Mucormycosis (Black Fungus) ब्लैक फंगस की रोकथाम के लिए तीन चीजें बहुत महत्वपूर्ण हैं। शुगर कंट्रोल बहुत अच्छा होना चाहिए, हमें स्टेरॉयड कब देने हैं इसके लिए सावधान रहना चाहिए और स्टेरॉयड की हल्की या मध्यम डोज देनी चाहिए।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *