Uttarakhand: सबसे खतरनाक मिक्स मार्शल आर्ट में उत्तराखंड के अंगद ने बनाया कीर्तिमान, आप भी दीजिए बधाई

खबर शेयर करें

Rudraprayag News: उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग के रहने वाले अंगद बिष्ट ने चीन मे चल रही विश्व की सबसे खतरनाक फाइट MMA को जीत कर नया कीर्तिमान बना दिया है। अंगद बिष्ट मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स समेत कई विधाओं में पारंगत होने के साथ ही विश्व के सबसे खतरनाक फाइटर बन गए हैं। इससे पूर्व अंगद कई वर्ल्ड चैंपियनशिप भी जीत चुके हैं।  दुनिया की सबसे खतरनाक मिक्स मार्शल आर्ट प्रतियोगिता यूएफसी में उत्तराखंड के अंगद बिष्ट ने भारत का एक बार फिर से अपना परचम लहराया है। अपने शानदार पैंतरे से अंगद बिष्ट ने चीन में आयोजित Road To UFC मुकाबले में फिलीपींस के जॉन अल्मांजा को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। 

उनके पिता ने भी एक आम आदमी की तरह बेटे के डॉक्टर बनने या मेडिकल की पढ़ाई का सपना देखा लेकिन बेटे के इस फैसले से शुरूआत में बहुत डरे भी। लेकिन अब जब बेटे ने कई कीर्तिमान रच दिए तो हर किसी को अंगद पर नाज है। रुद्रप्रयाग के पट्टी धनपुर के चिंग्वाड गांव के रहने वाले अंगद बिष्ट फ्री स्टाइल फाइटर हैं। उनके पिता मोहन सिंह बिष्ट मिठाई की दुकान चलाते हैं। अंगद पढ़ाई में भी काफी होनहार रहे। बचपन में डॉक्टर बनने का ख्वाब देखते थे और यही चाहते थे कि बड़े होकर इसी क्षेत्र में लोगों की सेवा करें।

यह भी पढ़ें 👉  रामनगरः पीएसी में जवान के भाई और मां की संदिग्ध हालत में मौत, परिवार में मचा कोहराम

उन्होंने मेडिकल की पढ़ाई के लिए कोचिंग भी ली। कोचिंग करने के दौरान उनकी रुचि जिम और फिटनेस की तरफ बढ़ी। यहीं से अंगद को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फाइटर बनने का ख्याल आया। अंगद को नहीं पता था कि इस तरह की फाइट में आप पैसे भी कमा सकते हैं या करियर का यह भी एक विकल्प हो सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल वैशाली में हुआ थोरैसिक के चार मरीजों सफल इलाज

अंगद ने ऐसा अपना जुनून बना लिया। इसके बाद दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग ली। शुरूआत में परिवार वालों ने अंगद के फैसले को सही नहीं माना लेकिन जब बेटे ने दुनिया के सामने नया कीर्तिमान रचा तो हर कोई अंगद के साथ खड़े नजर आए। आज वो इस क्षेत्र में खूब नाम कमा रहे हैं। अंगद देहरादून में फिटनेस ट्रेनर भी हैं, जहां वो अन्य युवाओं को फिटनेस के टिप्स देते हैं।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]