उत्तराखंड: ओ मेरी ईजू गीत में दिखा मां-बेटे का प्यार, भुवन फुलारा ने गीत से बयां की पहाड़ से पलायन की पीड़ा

o meri eju
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News: उत्तराखंड के संगीत जगत में कई नये कलाकारों ने अपना कदम रखा है। कई कलाकार अपनी छाप छोडऩे में कामयाब हो जाते है तो कई काफी संघर्षों के बावजूद पिछड़ जाते है। इन दिनों एक गीत जो एक पहाड़ से पलायन कर दो रोटी की तलाश में दूसरे प्रदेश गये बेटे का दर्द बयां कर रहा है। उसे लोग खूब पसंद कर रहे है। लोकगायकी की दुनियां में कदम रखने वाले भुवन फुलारा ने इस गीत को गाया है। उनके ओ मेरी ईजु गीत लोगों का भा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः भर्ती घोटाले पर आये नरेन्द्र नेगी ने नये गीत "लोकतंत्र मा" से किया नेताओं पर कटाक्ष, आप भी सुनिएं

पहाड़ी म्यूजिक फिल्म्स यू-ट्यूट चैनल से रिलीज हुए इस गीत पर गायक भुवन फुलारा ने एक मां से बेटे के बिछडऩे का दर्द बंया किया है। जो पहाड़ों में लंबे समय से चला रहा है। पहाड़ में रोजगार न होने से हर साल हजारों युवा दूसरे राज्यों की ओर रोजी रोटी की तलाश में पलायन कर रहे है। ऐसे में पहाड़ में पढ़ लिखकर शहरों में जाना जैसे एक परम्परा चली आ रही है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: UKSSSC पेपर लीक में 33वा विकेट गिरा, पत्नी का चयन कराया और पेपर लीक भी कराया

पेश से दिल्ली में चिकित्सक भुवन फुलारा को हमेश पहाड़ का दर्द सताता रहा है इसी दर्द को उन्होंने गाने की माध्यम से लोगों के बीच पहुंचाया है। मूलरूप से अल्मोड़ा जिले के सुरईखेत के निवासी भुवन फुलारा इन दिनों दिल्ली में है। वह लोकगायिकी के माध्यम से पहाड़ की संस्कृति को संवारने में जुटे है। उनके ओ मेरी ईजू गीत की लोगों ने जमकर तारीफ की है। अभी तक इस गीत को करीब पांच हजार से ऊपर व्यूज मिल चुके है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *