उत्तराखंड: कांग्रेस को सरकार का पुतला जलाना पड़ा भारी, NS प्रदेश अध्यक्ष समेत 25 के खिलाफ हुई ये बड़ी कार्यवाही

NSUI DEHRADUN FIR
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Dehradun: कोरोना काल में पिछली बार की तरह इस बार भी सियासत तेज होने लगी है। इसका ताजा उदाहरण देहरादून में देखने को मिला है। लॉकडाउन में प्रदर्शन कर सरकार का पुतला जलाना कांग्रेस को भारी पड़़ गया। शहर कोतवाली में कोरोना कफ्र्यू के दौरान रैली निकालने व पुतला दहन करने पर एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी सहित 25 कार्यकत्र्‍ताओं के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन करने और महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसके बाद कांग्रेस पार्टी में हडक़ंप मच गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः स्व. धर्मपाल कश्यप की प्रथम पुण्यतिथि पर लगा रक्तदान शिविर, युवाओं ने की रक्तदान

बता दें कि पार्षद आयुष गुप्ता के खिलाफ दर्ज मुकदमे के विरोध में कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में कांग्रेस भवन से रैली निकाली थी। इसके बाद एस्लेहाल चौक पर सरकार का पुतला भी फूंक डाला। इस संबंध में शहर कोतवाल एसएस नेगी ने बताया कि राज्य और केंद्र सरकार की तरफ से सभी प्रकार के विरोध प्रदर्शन, जुलूस, धरना आदि पर कोरोना संक्रमण को देखते हुए रोक लगा रखी है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: (बड़ी खबर) - कृपया यात्री पढ़ लीजिए ये खबर, यहां मलबा आने से सड़क हुई बंद

इसके बावजूद एनएसयूआइ कार्यकत्र्‍ताओं ने रैली निकालकर सार्वजनिक स्थल पर प्रदर्शन किया। इस दौरान शारीरिक दूरी के नियमों का पालन नहीं किया गया। कई कार्यकर्ता मास्क भी नहीं पहने थे। जिसके बाद पुलिस नेे प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी,प्रियांशु गौड़, सागर पुंडीर, आयुष, अभिषेक डोबरियाल, वासु शर्मा सहित 25 के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *