उत्तराखंडः (गजब का चोर)- उत्तराखंड में चोरी कर माल बेच आता था कोलकाता..

rishikesh m gajab ka chor
खबर शेयर करें

Rishikesh Crime News: विगत कुछ सालों से उत्तराखंड में चोरी के मामले बढ़ते जा रहे है। अब बाहरी राज्यों से आकर लोगों ने उत्तराखंड मंे घरों को निशाना बना दिया है। ऋषिकेश में पुलिस ने एक चोर को दबोचा उसके पास से माल भी बरामद किया। वह इससे पहले भी चोरी के कई मामलों में जेल जा चुका है। आगे पढ़िये…

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि विगत 15 अगस्त को ऋषिकेश में संजय बालियान पुत्र मेहर सिंह निवासी बसंत कालोनी श्यामपुर ऋषिकेश ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उनके बंद मकान में अज्ञात चोर नकदी, एक मोबाइल फोन एवं जेवरात चोरी कर ले गया है। वहीं विगत तीन अक्टूबर को कोतवाली में एस नारायण निवासी गली नंबर 10 देवेंद्र बिहार गुमानीवाला ऋषिकेश ने तहरीर देकर अवगत कराया कि 24 सितंबर को उनके घर में अज्ञात व्यक्ति ने चोरी का प्रयास किया गया हैं लोगों के जाग जाने के कारण चोर भाग गया। आगे पढ़िये…

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः (बधाई)-पहाड़ के राजेन्द्र महर ने CDS परीक्षा में लहराया परचम, एयरफोर्स में मिली 1sT रैंक...

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि इस मामले में दो अलग-अलग टीम गठित की गई। सीसीटीवी कैमरों समेत अन्य माध्यमों से जानकारी में आया कि यह सभी घटनाएं एक ही युवक सूरज कुमार वर्मा ने की हैं। शुक्रवार को एक बंद मकान से सूरज कुमार वर्मा को चोरी किए गए माल सहित गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने दोनों ही मामलों में सूरज कुमार वर्मा पुत्र सुरेश कुमार वर्मा निवासी त्रिवेणी घाट ऋषिकेश जनपद देहरादून को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की। आगे पढ़िये…

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: अब निवास, आय, इन समेत प्रमाण-पत्रों पर नहीं लगाने होंगे अतिरिक्त दस्तावेज, पढ़िए पूरी खबर

आरोपी ने बताया गया कि 13 अगस्त की रात को बसंत कालोनी श्यामपुर में बंद मकान का ताला तोड़कर कुछ ज्वेलरी एक मोबाइल फोन चुराया गया था। 14 अगस्त को वह ऋषिकेश से कोलकाता के लिए निकल गया था। कुछ ज्वेलरी उसने कोलकाता में चलते फिरते लोग को बेच दी। चोरी का जो सामान बचा था उसे बेचने की फिराक में था। वहीं कोलकाता से वापस आने के बाद 23 सितंबर को उसने श्यामपुर गुमानीवाला में एक घर में चोरी का प्रयास किया गया लेकिन घर वाले जाग गये। सूरज के खिलाफ चोरी के छह मामले दर्ज हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *