चटपटे व्यंजन: आटे व सूजी से छेद वाले ढोकला बनाने का आसान तरीका

खबर शेयर करें

गर्मियों में आप जितना तला भुना खाने से बचते हैं, बारिश के मौसम में उतना ही पकौड़ों की तलब होने लगती है। हालांकि मानसून में लगभग हर दिन बारिश जैसा मौसम बनने लगता है। अब हर दिन पकोड़े खाना मुमकिन नहीं, ऐसे में मानसून के लिए कुछ अलग अलग व्यंजनों और उनकी आसान रेसिपीज के बारे में जान लीजिए। 

 कढ़ी

सामग्री: बेसन, खट्टा दही, राई, जीरा, हींग, कड़ी पत्ता, पिसी हुई लाल मिर्च, हल्दी, नमक, हरी मिर्च व हरा धनिया कटा हुआ, घी।

विधि: बेसन खट्टे दही में मिलाकर घोल लें फिर घोल में हल्दी व स्वादानुसार नमक डालिए। भगोनी में थोड़ा घी डालकर गर्म करें। जब घी गर्म हो जाये तब उसमें हींग, कड़ी पत्ता व हरी मिर्च डालकर हिलाइये। फिर राई व जीरा डालें। बाद में पिसी हुई लाल मिर्च व हल्दी डालकर बेसन का घोल डालें और चम्मच से उसे हिलाते रहे। अगर घोल बहुत गाढ़ा हो तो गरम पानी और डालें और बराबर हिलाते रहे। जब कढ़ी में उबाल आ जाये तब आंच धीमी कर दें। थोड़ी ही देर में कढ़ी पक कर तैयार हो जायेगी। जब कढ़ी तैयार हो जाये तब कटा हुआ हरा धनिया डाले। गरम-गरम फुलकों के साथ कढ़ी को पेश कीजिये।

 आटे/सूजी से बने छेद वाले ढोकले

सामग्री: आटा, सूजी, नमक, लाल पिसी हुई मिर्च, हल्दी, जीरा, तेल, मीठा सोडा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:(बड़ी खबर)- सुबह-सुबह प्राधिकरण के दफ्तर में कमिश्नर का छापा, मचा हड़कंप

विधि: आटा और सूजी दोनों समान मात्रा में लेकर मिला लें। फिर उसमें स्वादानुसार नमक, पिसी हुई लाल मिर्च, हल्दी व जीरा थोड़ी मात्रा में डाल दें। फिर मोयन के लिये तेल भी और थोड़ा सा खाने वाला सोडा भी डाल दें। सभी को अच्छी तरह से मिलाकर गरम पानी से आटा गूंथ लें। आटे के गोले बनाकर उन्हें टोपी के आकार में गोल बनाकर उनके बीचोंबीच में छेद कर दें।

अब एक भगोने में गरम पानी लें। जब पानी गरम हो जाये, तो उस पानी में टोपी के आकार के बने हुए ढोकले डाल दें और आंच एकदम मंदी कर दें। पानी कम ही रखें क्योंकि ढोकलों में जो छेद किया हुआ है, उनमें से पानी  ऊपर आ जाता है। इस तरह आसानी से ढोकले बन जाते हैं। जब ढोकले बन कर तैयार होते हैं। तब उनका रंग थोड़ा लाल लाल दिखने लगता है। जब ढोकले पक जाते हैं, तब उसका पानी भी खत्म हो जाता है। फिर खाने के समय ढोकले को बाहर निकाल कर उनके टुकड़े करके घी या तेल लगाकर दाल व हरी चटनी के साथ गरम गरम खिलाइये।

 दही दाल

सामग्री: 1 कटोरी मूंग की दाल (पीली), पाव कटोरी चना दाल, पाव कटोरी उड़द दाल, 3 मध्यम आकार के प्याज बारीक कटे हुए, 3 मध्यम आकार के टमाटर बारीक कटे हुए, अदरक, लहसुन व हरी मिर्च का पेस्ट एक बड़ा चम्मच, 6-7 हरी मिर्च बारीक कटी हुई, हरा धनिया, साबुत गरम मसाला-तेजपत्ता, दालचीनी,लौंग, बड़ी इलायची, काली मिर्च, जावित्री, लाल मिर्च, हल्दी व धनिया पिसा हुआ, हींग व जीरा, नमक स्वाद के अनुसार,1 प्याला ताजा दही, 4  बड़े चम्मच देसी घी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः कोचिंग सेंटरों पर कसेगा शिकंजा, संचालकों के लिए बनेगी ये पॉलिसी

विधि: तीनों दालों को मिलाकर उसे साफ करकेे पानी से धो लें। फिर प्रेशर कुकर में डालकर नमक व हल्दी मिला दें। तीन सीटी आने तक उसे उबलने दें। फिर उसे ठंडा होने के लिए रख दें।

अब एक कड़ाही लेकर उसमें चार चम्मच घी डाल कर गरम होने के लिए रख दें। जब घी गरम हो जाये तो सभी तरह का साबुत गरम मसाला डालें। जब मसाला तड़कने लगे तब उसमें हींग व जीरा डालें। फिर पिसी हुई लाल मिर्च व हल्दी डालकर प्याज डालें। जब प्याज सुनहरा होने लगे तभी टमाटर एवं अदरक लहसुन का पेस्ट भी डालें। टमाटर को तब तक पकने दें, जब तक वह घी नहीं छोड़े। घी छोडऩे के बाद उसमें दही डालकर घी छोडऩे तक अच्छी तरह हिलाते रहे। फिर पिसा हुआ धनिया व स्वाद के अनुसार नमक मिलाइये। अब ठंडी हुई दाल को घोंटकर तैयार मिश्रण में मिला दीजिए। फिर पिसा हुआ गरम मसाला एवं बारीक कटा हुआ हरा धनिया मिलाकर पांच मिनिट तक पकाईये। आपकी गरमा गरम स्वादिष्ट दही दाल तैयार है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः हरेला पर्व से पहले आंचल ने बाजार में उतारा 6 लीटर दूध का पॉलीपैक और शहद

 लौकी के कोफ्ते

सामग्री: लौकी, बेसन, दही, टमाटर, पिसी हुई लाल मिर्च, हल्दी, धनिया, नमक, सौंफ, जीरा, बारीक कटी हुई मिर्च और हरा धनिया, घी,तेल।

विधि: लौकी  को अच्छी तरह से धोकर छील ले। फिर लौकी को कद्दूकस से कस लें।

फिर उसमें बेसन डाल कर मिला लें, अब इसमें नमक, सौंफ, पिसी हुई लाल मिर्च डाल कर मिश्रण तैयार कर लें, पानी डालने की जरूरत नहीं। फिर तेल गरम करके इसमें तैयार किये हुए मिश्रण के कोफ्ते बनाकर तलें।

अब ग्रेवी बनाने के लिए टमाटर को कद्दूकस से कस लें, कड़ाही में थोड़ा घी डालकर गरम  करें। जब घी गरम हो जाये तब उसमें जीरा डालें फिर पिसी हुई लाल मिर्च, हल्दी व धनिया पावडर डाल कर कद्दूकस किया हुआ टमाटर डाल दें और उसे हिलाते जाइये। जब वह घी छोडऩे लगे तब उसमें  दही भी डाल दें और जब दही भी घी छोडऩे लगे तब उसमें पानी डालें, स्वादानुसार नमक मिला दे। जब ग्रेवी मेेंं उबाल आने लगे तो तैयार किये हुये कोफ्ते उसमें डालकर एक उबाल ले लीजिये। फिर बारीक कटी हुई हरी मिर्च व धनिया डालें। इस तरह लौकी के कोफ्ते की सब्जी तैयार है। अब इसे गरम-गरम फुलकों के साथ परोसिये। (श्वेता मंगल – विनायक फीचर्स)

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]