हल्द्वानी: कोटाबाग में शादी की सुबह दुल्हन और उसकी बहन निकली कोरोना पॉजिटिव, फिर पीपीई किट में लिए सात फेरे

PPE KIT M SHADI KOTABAG
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Haldwani: कोरोनाकाल में शदियां बड़े अनोखे तरीके से हो रही है। इससे पहले पहाड़ में दो दो शादियां ऐसी हो चुकी है। अब नैनीताल जिले में ऐसी शादी का पहला मामला आया है। शादी के दिन ही दुल्हन के मोबाइल पर कोरोना पॉजिटिव होने का मैसेज आता है तो परिवार में हडक़ंप मच जाता है। मामला यही शांत नहीं होता आरटीपीसीआर जांच में दुल्हन की छोटी बहन भी कोरोना पॉजिटिव निकल गई। सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार शादी में शामिल होने वाले सभी 20 लोगों को आरटीपीसीआर जांच करानी अनिवार्य है। ऐसे में सभी ने जांच करायी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पहाड़ में घर से महिला को घसीटकर ले गया गुलदार, इस हाल में मिली लाश

मंगलवार को कोटाबाग ब्लॉक के एक गांव की एक युवती का विवाह होना था। शादी के लिए गाइडलाइन के अनुसार शनिवार को परिवार के सभी सदस्यों ने रैपिड व आरटीपीसीआर जांच करायी। रैपिड जांच में सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। जिस कारण परिवार वाले विवाह की तैयारियों में जुटे थे।

मंगलवार को सुबह महिला संगीत और दोपहर में विवाह समारोह संपन्न होना था। सुबह जैसे ही शादी की तैयारियां चल रही थी तभी दुल्हन के मोबाइल पर एक मैसेज आया जिसमें दुल्हन और उसकी छोटी बहन पॉजीटिव आ गए। फिर क्या था थोड़ी देर में गांव भर में फैल गया दुल्हन और उसकी बहन कोरोना पॉजिटिव है। परिवार को बड़ी टेंशन हो गई। ऐसे में राय लेकर पीपीई किट पहनकर विवाह समारोह संपन्न कराने का निर्णय लिया। जिसके बाद प्रशासन की ओर से परिवार को तीन पीपीइ किट उपलब्ध करायी गयी। जबकि परिवार वाले छह पीपीई किट हल्द्वानी जाकर खरीदकर लेकर आए। विवाह से पहले रखे गए महिला संगीत के कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: गर्भवती महिला ने बच्चे को सड़क पर दिया जन्म, एक घंटे बाद आई एंबुलेंस

इसके बाद बारात आयी। शादी का पूरा मजा किरकिरा हो गया। दूल्हा-दुल्हन के साथ पुरोहित और कन्यादान कर रहे चाचा-चाची ने पीपीई किट पहनकर विवाह की रस्में पूरी की। प्रशासन के आदेश पर कोटाबाग पुलिस चौकी के दो जवान निगरानी के लिए विवाह कराया गया। दोपहर बाद विवाह समारोह संपन्न होने पर दूल्हा बिना दुल्हन के रवाना हो गया। महिला संगीत रद्द करने के साथ ही प्रशासन ने घर वालों को छोड़ अन्य लोगों को विवाह समारोह में शामिल होने की अनुमति नहीं दी।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *