काम की खबर: ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन, कब करना चाहिए RT-PCR TEST और कब नहीं

ICMR NEW GIDELINE
खबर शेयर करें

RT-PCR TEST- पूरा देश कोरोना की चपेट में है। कई राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन लगा दिया है जबकि कई राज्यों ने जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की है। धीरे-धीरे पूरा देश लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है। देश में कोरोना की यह दूसरी सबसे खतरनाक लहर चली है। लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों पर केन्द्र और राज्य सरकरें सख्त हो चुकी है। ऐसे में सभी राज्य RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर जांच बढ़ा रहे है। गुरूवार को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानि आईसीएमआर ने RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। जिससे लोगों को यह पता चल सकेगा कि कब हमें आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  जरूरी खबर: जुलाई में 14 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए छुट्टियों की पूरी लिस्ट

कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार जारी है। दरअसल RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर टेस्ट से पता चलता है कि कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है या नहीं। कोरोना टेस्ट के लिए देशभर में लैब कर्मियों पर दबाव बढ़ रहा है। इसके देखते हुए अब आईसीएमआर ने RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। आईसीएमआर की नई गाइडलाइन के अनुसार अगर रैपिड एंटीजन में कोई व्यक्ति कोरोना निगेटिव आती है। लेकिन उसमें कोरोना वायरस के लक्षण दिखते है तो इस स्थिति में RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  बधाई: मां करती है आंगनबाड़ी में काम, बेटे ने Google और Amazon का ऑफर छोड़, 1.8 करोड़ में Facebook किया ज्वाइन

ऐसे में न करें आरटी-पीसीआर जांच

अगर आप रैपिड एंटीजन टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव निकलते है तो RT-PCR TESTआरटी-पीसीआर जांच की जरूरत नहीं
पहली बार RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर जांच में व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया।
अगर कोई व्यक्ति 10 दिनों तक होम आइसोलेशन रहता है और तीन दिन से बुखार न आया हो तो जांच की जरूरत नहीं।
अगर आपकों अस्पताल से छुट्टी मिल गई है तो उस समय RT-PCR TEST आरटी-पीसीआर टेस्ट की कोई जरूरत नहीं।
अगर किसी व्यक्ति ने अंतरराज्यीय यात्रा की है तो टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *