उत्तराखंड: यहां ऑनलाइन चल रहा था सैक्स रैकेट, दो युवतियों सहित चार गिरफ्तार…

DINESHPUR SEX RACKET
खबर शेयर करें

DINESHPUR SEX RACKET: देवभूमि में लगातार एक के बाद एक सैक्स रैकेट पकड़े जा रहे है। पिछले कुछ दिनों से ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा देह व्यापार का धंधा चल रहा है। अभी तक कई लोगों को पुलिस पकड़ चुकी है। अब स्‍कार्ट सर्विस नाम से गूगल वेबसाइट पर रैकेट चला रहे गिरोह का एसओजी ने पर्दाफाश किया है। देह व्यापार में लिप्त दो युवती सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि गिरोह का सरगना फरार हो गया।

इस दौरान पुलिस ने मौके से चार मोबाइल फोन, एक आल्टो कार, एक स्कूटी, एक बाइक व आपत्तिजनक सामग्री के साथ ही 570 रुपये बरामद किए। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया। पुलिस अब बुधवार को आरोपितों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जाएगा। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि स्कोर्ट सर्विस नाम से गूगल वेबसाइट पर देह व्यापार करने वाला गिरोह चल रहा था। वेबसाइट में दिए नंबरों पर संपर्क कर लोगों से गूगल पे, फोन पे व पेटीएम के जरिये पेमेंट लेकर देह व्यापार के लिए लड़कियां उपलब्ध कराते थे। रुद्रपुर समे आसपास के जगहों पर स्‍कार्ट सर्विस के नाम पर तीन नंबर एक्टिव मिले थे। इस पर एसएसपी ने एसओजी को कार्रवाई के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: (दुखद)- मां-बेटे को कार ने रौंदा, विदेश जा रहा था बेटा

आज ने जयनगर थाना दिनेशपुर के एक घर में छापा मारा। देह व्यापार करते राधाकांतपुर थाना दिनेशपुर के दलीप शिकारी, जेल कैंप नंबर चार शक्तिफार्म के बलराम मंडल के साथ ही रविंद्रनगर धोबीघाट थाना ट्रांजिट कैंप व खेड़ा रुद्रपुर की दो युवतियों को पकड़ लिया। उनके पास से चार मोबाइल फोन, एक आल्टो कार, एक स्कूटी, एक बाइक व आपत्तिजनक सामग्री और 570 रुपये बरामद हुए। गिरोह का सरगना लक्खीपुर थाना दिनेशपुर निवासी सूरज विश्वास मौके से फरार हो गया। मौके पर से एक नाबालिक भी बरामद की।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः यहां मां के खिलाफ मासूम पहुंचा कोतवाली, सुनाई अपनी दर्द भरी कहानी...

पूछताछ में बलराम ने बताया कि वाहनों से वह अनैतिक कार्य में लगी लड़कियों को छोडक़र आता है। लड़कियों को कमाए पैसों का आधा हिस्सा दिया जाता है। वह गूगल में स्कोर्ट सर्विस नाम की वेबसाइट चलाते हैं और उनके मोबाइल नंबर बैंक खातों से जुड़े हैं। दिलीप शिकार को तनख्वाह पर रखा गया था। जबकि फराार सूरज गिरोह का मुख्य सरगना है। सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 370, 372, 373 व अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *