उत्तराखंड: (शाबास भुला)- हल्द्वानी के धीरज बने असिस्टेंट प्रोफेसर, आईआईएम में हुआ चयन…

खबर शेयर करें

Haldwani News: पहाड़ से प्रतिभाएं लगातार अपनी प्रतिभा का डंका बजा रही है। आज हर क्षेत्र में पहाड़ के युवाओं ने अपना दबदबा बनाया है। अब नैनीताल के डॉ. धीरज चंद्रा ने अपनी मेहनत और लगन से देश के प्रतिष्ठित भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) काशीपुर में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर चयनित होकर जिले का नाम रोशन किया है। 16 उम्मीदवारों में टॉपर होने पर, आईआईएम काशीपुर के निदेशक ने व्यक्तिगत रूप से डॉ. धीरज को इस उपलब्धि पर बधाई दी। आगे पढ़िए…

बता दे कि नैनीताल के रहने वाले और वर्तमान में हल्द्वानी डहरिया निवासी धीरज बचपन से ही होनहार और मेधावी छात्र रहे हैं। उन्होंने अपनी भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय नैनीताल से पढ़ाई पूरी की। अखिल भारतीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने जीबी पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी पंतनगर से प्रोडक्शन इंजीनियरिंग में बीटेक किया। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: हरेले पर्व के उपलक्ष्य पर विज्डम स्कूल ने किया में वृक्षारोपण

गेट परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन करने के बाद उन्हें आईआईटी दिल्ली के एमटेक औद्योगिक इंजीनियरिंग कार्यक्रम के लिए चुना गया। इसके बाद आईआईटी रुड़की में पीएचडी में दाखिला लिया और वर्ष 2019 में सप्लाई चैन मैनजेमेंट विषय में अपनी पीएचडी परीक्षा उत्तीर्ण की। पीएचडी करने के बाद उन्होंने कुछ वर्षो तक आईआईटी कानपूर में पोस्टडॉक्टोरल फेलो के पद पर रह कर रिसर्च की। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः गुरू द्रोणा पब्लिक स्कूल में मची हरेले पर्व की धूम, बच्चों ने लगाये पौधे

अब उनका चयन दूसरे आईआईटी एवं आईआईएम में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए भी हुआ है। उनके पिता एसबीआई भीमताल से सहायक प्रबंधक के पद से सेवानिवृत्त है और माता गृहिणी है। धीरज की सफलता से क्षेत्र व परिवार में खुशी का माहौल है।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]