उत्तराखंड: (चंद्रपाल हत्याकांड)-अवैध संबंंधों में बाधक बना जेठ, तो प्रेमी को प्यार की कसमें देकर करवा दी हत्या

CHANDRAPAL HATYAKAND
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Kashipur:अवैध संबंधों के चलतेे हत्या का एक और मामला सामने आया है। इससे पहले हल्द्वानी में अवैध संबंधों के चलते हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। अब ऊधमसिंह नगर काशीपुर में ये मामला सामने आया। यहां टीला गांव के चंद्रपाल सिंह की हत्या उसके छोटे भाई की पत्नी ने अवैध संबंधों में रुकावट बनने पर अपने प्रेमी से कराई थी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या में उपयोग की गई ईंट, खून से रंगे कपड़े व अन्य सामान बरामद कर लिया है।

Ad

विगत सोमवार की रात कुंडा थाना क्षेत्र के गांव टीला निवासी चंद्रपाल सिंह की ईंट से कुचलकर हत्या कर दी गई थी। मंगलवार सुबह जब हत्याकांड का पता तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मृतकक चंद्रपाल के पुत्र सचिन ने अपनी चाची सविता देवी पत्नी रामपाल और उसके प्रेमी मंजीत सिंह पुत्र करन सिंह पर हत्या का शक जाहिर किया गया था। जिसके बाद उसकी तहरीर पर कुंडा पुलिस ने आइपीसी की धारा 302 व 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया। हत्याकांड के खुलासे के लिए एसएसपी और एसपी के संयुक्त निर्देशन में तीन टीमें बनाई गर्ई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: आप ऐसे करेगी उत्तराखंड में चुनाव की शुरुआत, मंत्री गोपाल राय ने भाजपा-कॉग्रेस को घेरा...

बुधवार को एसपी प्रमोद कुमार ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि सविता का विवाह वर्ष 2009 में चंद्रपाल के सबसे छोटे भाई रामपाल के साथ हुआ था। लेकिन शादी के बाद सविता के गांव के ही मंजीत सिंह से अवैध संबंध हो गए। करीब चार साल दोनों के बीच अवैध संबंध चल रहे थे। सविता अवैध संबंधों में सबसे बड़ी रुकावट जेठ चंद्रपाल को मानती थी। ऐसेे मेंं उसका अपने पति रामपाल से झगड़ा होता था। करीब तीन साल पहले गांव वालों ने सविता और मंजीत को एक घर में पकड़ा था जिसके बाद खूब हंगामा हुआ था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: नई नजूल नीति से हल्द्वानी के 12000 से अधिक परिवार होंगे प्रभावित: बल्यूटिया...

इस बीच लॉकडाउन लग गया तो सविता का मिलना बंद हो गया। ऐसे मेें तीन दिन पहले दोनों भागकर मुरादाबाद चले गए थे। रेलवे स्टेशन पर दोनों को रेलवे पुलिस ने संदिग्ध देखकर पूछताछ की। किसी तरह पुलिस को समझा कर दोनों वहां से निकले। इसके बाद दोनों गांव वापस आ गए। इसी दौरान सविता ने मंजीत से कहा कि उसने मंजीत के चक्कर में अपना सब कुछ छोड़ दिया है। रोज पिटाई खाती है, गाली-गलौज सहती है, लेकिन मंजीत ने उसके लिए कुछ नहीं किया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: जीतपुर नेगी की जनता ने मंत्री बंशीधर भगत पर बरसाये फूल, नगर निगम में शामिल होने पर ऐसे किया स्वागत…

ऐसे में प्रेमी मंजीत ने पूछा मैं क्या कर सकता हूं तो सविता ने उससे वादा ले लिया कि वह चंद्रपाल सिंह की हत्या कर दे। चंंद्रपाल ही उनके रास्ते का कांटा है। प्रेमी मंजीत ने अपने वादे के अनुसार सोमवार रात कत्यायनी पेपर मिल में हाजिरी लगाने के बाद टीला गांव पहुंचा और चंद्रपाल सिंह की ईंट से कुचलकर हत्या कर दी। दोनों के खिलाफ सबूत जुटाने के बाद बुधवार को पुलिस ने मंजीत और सविता को गिरफ्तार कर लिया और कोर्ट के समक्ष पेश किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *