नैनीताल: बन्द कमरे में अँगीठी जलाकर सो गए भाभी और ननद, दम घुटने से मौत…

खबर शेयर करें

Okhalkanda News: डालकन्या के पनखाल तोक में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गयी। बताया जा रहा है कि शंकर राम आर्या के पुत्र गिरीश आर्या की 26 वर्षीय पत्नी बिश्नी देवी और 14 वर्षीय बेटी ममता रात क़रीब 8 बजे अलग कमरे में सोने गए थे। रात में ठंड से बचने के लिए उन्होंने कमरे अँगीठी में आग जला रखी थी, जिसमें खिड़की नहीं थी कमरा बन्द होने के कारण धुंआ कमरे से बाहर पास नहीं हुआ। जिससे दो लोगों की मौत हो गई।

जानकरी के अनुसार रात उनके घर में जागर थी।अगले दिन का कामकाज कर रात 8 बजे बिश्नी देवी और ममता कमरे में सोने चले गए। वही बिश्नी देवी की एक साल बेटी है। बेटी उस दिन अपने दादा शंकर राम आर्या के पास सोयी थी, बुधवार करीब रात 10 बजे बच्ची को भूख़ लगी तो वह रोने लगी और उसके दादा उसे दूध पिलाने अपनी बहू बिश्नी देवी के कमरे में गये दरवाज़ा खटखटाने के बाद अंदर से कोई ज़बाब न मिलने पर उन्होंने दरवाज़ा जैसे तैसे खोला और जब अंदर देखा तो बन्द कमरे में अँगीठी में आग जल रही थी और बहू बिश्नी देवी और बेटी ममता का धुँए से दम घुट चुका था। परिवार में दो लोगों की मौत के बाद कोहराम मच गया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]