हल्द्वानी: अपने से 10 साल छोटे प्रेमी संग शादी की जिद पर अड़ी दो बच्चों की मां, कोतवाली में हुआ हाईवोल्टेज ड्रामा…

10 saal chhote premee sang shaadee kee jid par adee do bachchon kee maan,
खबर शेयर करें

LALKUAN NEWS: दो बच्चे की मां के कुंवारे युवक के साथ रहने की जिद के चलते कोतवाली पुलिस पिछले 24 घंटे से परेशान है। अंततः पुलिस ने जहां पति और पत्नी के आशिक का शांति भंग की धाराओं में चालान कर दिया। वही पत्नी को वन स्टॉप सेंटर भेज दिया।

जानकारी के अनुसार यहां निकटवर्ती वर्मा कॉलोनी में रहने वाले 35 वर्षीय लेखपाल की 32 वर्षीय पत्नी का दूसरी कॉलोनी में रहने वाले युवक 22 वर्षीय सुनील से चल रहे प्रेम संबंध इतने गहरा गए कि दो बच्चों की मां जिसकी बड़ी बेटी 8 वर्ष की, जबकि छोटा बेटा 7 वर्ष का है, को इश्क का ऐसा भूत सवार हुआ गत दिवस उसने 22 वर्षीय युवक सुनील का हाथ पकड़ लिया और उससे शादी करने की जिद करने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः पिथौरागढ़ में नोटों से भरा बैग लिए घूमता मिला हल्द्वानी का युवक, पुलिस ने गिने तो निकले 26 लाख…

और विवाहिता के प्रेम में अंधा हो चुका सुनील भी शादी को तैयार हो गया, यह सब देख लेखपाल आश्चर्यचकित था, उसने आनन-फानन में यह खबर विवाहिता के खैरानी बिंदुखत्ता स्थित मायके वालों को सुनाई तो वह भी आश्चर्यचकित हो गए, विवाहिता के माता-पिता अन्य संबंधियों को लेकर कोतवाली पहुंच गए, वहीं विवाहिता भी अपने प्रेमी को लेकर कोतवाली धमक गई, कोतवाली में पहुंचे लेखपाल भी आग बबूला होकर सुनील से भिड़ने को तैयार था।

यह भी पढ़ें 👉  Sarkari Naukri: ITI का सर्टिफिकेट लाएं और बिना परीक्षा नौकरी पाएं...

जबकि पुलिस का कहना था कि वह महिला को जबरदस्ती उसके पति के साथ नहीं भेज सकते हैं, विवाद अधिक बढ़ा तो कोतवाली पुलिस ने विवाहिता को रात्रि में वन स्टॉप सेंटर हल्द्वानी भेज दिया, जबकि महिला के पति एवं प्रेमी दोनों को कोतवाली में बिठा दिया, बुधवार की प्रातः से दोपहर बाद तक कोतवाली में तीनों के परिजन एकत्र होकर पुलिस से हस्तक्षेप करने की बात कह रहे थे, इधर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार ने बताया कि पुलिस ने विवाहिता के पति और प्रेमी दोनों का शांति भंग की धाराओं में चालान कर दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: अब निवास, आय, इन समेत प्रमाण-पत्रों पर नहीं लगाने होंगे अतिरिक्त दस्तावेज, पढ़िए पूरी खबर

जबकि विवाहिता को वन स्टॉप सेंटर भेज दिया है, अब एसडीएम कोर्ट में ही तीनों की सुनवाई होगी और एसडीएम का निर्णय ही सर्वमान्य माना जाएगा। फिलहाल पति पत्नी और वो के बीच चल रहा है यह मामला पिछले 24 घंटे से क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *