हल्द्वानीः दंगे में नहीं प्रेम-प्रसंग में हुई थी बिहार के प्रकाश की हत्या, पुलिस सिपाही समेत 4 गिरफ्तार…

खबर शेयर करें

Haldwani News: विगत 8 फरवरी को बनभूलपुरा में बवाल हुआ तो कई लोगों के मरने की खबरें थी, अगले दिन पुलिस को एक लाश मिली थी, जिसकी शिनाख्त प्रकाश कुमार सिंह उर्फ अविराज पुत्र श्याम देव सिंह निवासी छिने गाँव भोजपुर सिन्हा, बिहार के रूप में हुई थी। लेकिन आज जब एसएसपी प्रहलाद मीणा ने खुलासा किया तो सब चौक उठे। प्रकाश का बनभूलपुरा दंगे से कोई लेना-देना नहीं था। बल्कि उसकी हत्या तो प्रेम-प्रसंग में हुई थी। प्रकाश की हत्या के आरोप में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

एक ओर पुलिस बनभूलपुरा हिंसा के दंगाईयों की तलाश में जुटी है। वहीं दूसरी ओर बिहार के प्रकाश कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। ऐसे में पुलिस हर कदम फूंक-फूंक कर चल रही थी। इसकी जांच के लिए पुलिस ने मृतक प्रकाश के मोबाइल की जांच की। और एसओजी व सर्विलांस की मदद ली तो पुलिस के होश उड़ गये। पुलिस जांच में जो सामने आया उस पर एक समय यकीन नहीं हो रहा है, लेकिन जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ी तो प्रकाश की हत्या का पर्दा उठ गया।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: ऐतिहासिक होगा 2024 का लोकसभा चुनावः त्रिवेन्द्र

जांच में पता चला कि प्रकाश का संपर्क सितारगंज के किसी युवक से था तथा उत्तराखण्ड के अन्य नम्बर से भी वह वार्ता कर रहा था, जो 08 फरवरी को ही हल्द्वानी पहुँचा। जब पुलिस ने उन नंबरों के लोगों को खोजबीन की तो एक बड़े राज का पर्दाफाश हो गया। पूछताछ में पता चला कि आरोपी सूरज मृतक प्रकाश का लगभग दो ढाई साल से दोस्त था। ऐसे में प्रकाश कुमार का सूरज के घर आना-जाना रहता था। इसी दौरान प्रकाश के अवैध संबन्ध सूरज की बहन व पुलिस सिपाही की पत्नी प्रियंका के साथ बन गये। तथा मृतक प्रकाश कुमार सिपाही की पत्नी के साथ अवैध शारीरिक सम्बन्ध की वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल कर पैसे की मांग करने लगा। प्रियंका ने यह बात अपने पति बीरेन्द्र से छुपाकर रखी लेकिन 7 फरवरी को प्रकाश ने उसके पति बीरेन्द्र को फोन किया।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking: हल्द्वानी में मिली महिला की लाश, दो बच्चों संग रहती थी किराए के मकान में...

प्रियंका ने पूरी बात अपने पति को बताई, तब बीरेन्द्र ने अपनी पत्नी प्रियंका एवं अपने साथी नईम खान उर्फ बबलू के साथ मिलकर प्रकाश कुमार सिंह की हत्या करने की साजिश रची। इसके बाद प्रियंका ने प्रकाश को फोन किया और उसे हल्द्वानी बुलवाया। बीरेन्द्र ने प्रकाश कुमार से अपने मोबाईल से प्रियंका की वीडियो हटाने को कहा। लेकिन प्रकाश कुमार द्वारा मना करने पर सिपाही बीरेन्द्र ने अपने साथियों के साथ मिलकर 8 फरवरी की शाम को प्रकाश की गोली मारकर हत्या कर दी।
बीरेन्द्र सिंह पुत्र स्व. रघुनाथ सिंह निवासी ग्राम आलावृद्धि पो.औ नागवा नाथ थाना खटीमा जिला ऊधम सिंह नगर, सूरज बाईन पुत्र पवित्र बाईन निवासी शक्तिफार्म नं-1, बैकुण्ठ नगर थाना सितारगंज जिला ऊधम सिंह नगर, प्रेम सिंह पुत्र स्व. रविशंकर सिंह निवासी ढौराडाम थाना किच्छा जिला ऊधम सिंह नगर, नईम खान उर्फ बबलू पुत्र स्व नसीम खान निवासी इन्द्रानगर पश्चिमी वार्ड न.14 उजालानगर थाना बनभूलपुरा को गिरफ्तार कर लिया है। प्रियंका पत्नी बीरेन्द्र नि ग्राम आलावृद्धि पोओ. नागवा नाथ थाना खटीमा जिला ऊधम सिंह नगर फरार है। बीरेन्द्र की निशादेही पर हत्या में प्रयुक्त पिस्टल व जिन्दा चार कारतूस बरामदगी की गई है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

You cannot copy content of this page