हल्द्वानीः (अजब-गजब)- सुशीला तिवारी अस्पताल का एक और कारनामा, अब पत्रकार का ब्लैड ग्रुप ही बदला…

खबर शेयर करें

Haldwani News: हल्द्वानी का सुशीला तिवारी अस्पताल हमेशा की चर्चाओं में रहा है। यहां हर दिन नये-नये कारनामे सामने आते रहते है। अब एक खबर ऐसी है कि जो आपको चौका देगी। यहां एक युवक का ब्लैड ग्रुप ही बदल गया। युवक ने बाहर लैब में जांच कराई जो दूसरा ब्लैड ग्रुप निकला जबकि सुशीला तिवारी अस्पताल में अलग ब्लैड ग्रुप था। इसमें आश्चर्य की बात यह है कि ऐसा यहां रोज आम जनता के साथ होता है इस बार एक पत्रकार के साथ हुआ तो वह हैरान रह गये। पत्रकार का कहना था कि उसका ब्लैड गु्रप बी पॉजिटिव था लेकिन जब सुशीला तिवारी अस्पताल में जांच कराई तो पता चला कि उसका ब्लैड ग्रुप ए है। हैरानी की बात यह है कि पत्रकार साहब की उम्र 40 वर्ष है। सुशीता तिवारी का कारनामा देखने के बाद वह भी कुछ देर के लिए कन्फूज हो गये, लेकिन मेरा सही ब्लैड ग्रुप क्या है। अगला पैरा पढ़े…

हल्द्वानी निवासी एक न्यूज चैनल के पत्रकार की तबीयत खराब हुई तो वह सुशीला तिवारी अस्पताल पहुंचे। जहां चिकित्सक को दिखाने के बाद उन्होंने जांच के लिए लिख दिया। उन्होंने जांच की तो अगले दिन रिपोर्ट लेने गये तो वह रिपोर्ट देखकर चौक रिपोर्ट में उनका ब्लैड ग्रुप ए पॉजिटिव लिखा था जबकि उनका कहना है कि उनका ब्लैड ग्रुप बी पॉजिटिव है। ऐसे में पत्रकार साहब अपने ब्लैड ग्रुप को कन्फूजन में है। साथ ही रिपोर्ट को लेकर भी असमंजस्य में है, कि अगर ब्लैड गु्रप ही बदल दिया है तो क्या रिपोर्ट भी सही होगी। इसके बाद उन्होंने बाहर प्राइवेट लैब में जांच कराई तो वहां उनका ब्लैड ग्रुप बी पॉजिटव लिखा आया, पत्रकार साहब का कहना है कि उनका ब्लैड ग्रुप बी पॉजिटिव ही है, वह कितनी बार ब्लैड डॉनेट कर चुके है, लेकिन इस बार सुशीला तिवारी अस्पताल में गये तो उनका ब्लैड गु्रप ही बदल दिया। ऐसी लापरवाही से एक बार फिर सुशीला तिवारी अस्पताल चर्चाओं का विषय बना है, इससे पहले कई मामलों में अस्पताल का नाम खराब हो चुका है।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]