उत्तराखंड: दो वाहनों की आपस में हुई टक्कर, सेना के जवान और पुलिस दरोगा के बीच जमकर हुई धक्का-मुक्की

army or police ka vahan takraya
खबर शेयर करें

Roorki News: खबर रूडक़ी से है जहां रुडक़ी-देहरादून हाईवे पर सेना के वाहन और एक दरोगा की कार आपस में टकरा गई। जिसके बाद सडक़ पर हंगामा हो गया। दरोगा और गाड़ी सवार सेना के जवानों में कहासुनी और धक्का-मुक्की तक नौबत पहुंच गई। मौके पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। लोगों ने सेना के पक्ष में नारे लगाने श््राुरू कर दिये। इसके बाद अन्य पुलिसकर्मी भी वहां पहुंच गये।

जानकारी के अनुसार भगवानपुर थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर अनिल सिंह बिष्ट अपनी निजी कार से रुडक़ी से भगवानपुर लौट रहे थे। बताया जा रहा है कि रामनगर के समीप उनकी कार के पीछे से आ रही सेना की गाड़ी से साइड लग गई। जिसमें दरोगा की कार क्षतिग्रस्त हो गई। फिर क्या था गाड़ी सवार जवानों और दरोगा के बीच कहासुनी हो गई। बहस धक्का-मुक्की में बदल गई। इस दौरान हंगामा होता देख लोगों की भीड़ एकत्र होने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः स्व. धर्मपाल कश्यप की प्रथम पुण्यतिथि पर लगा रक्तदान शिविर, युवाओं ने की रक्तदान

तभी लोगों ने सेना के पक्ष में नारेबाजी शुरू कर दी। सेना और भारत माता की जय के नारे लगने लगे। इस बीच सेना की गाड़ी वहां से निकलने लगी। दरोगा अनिल बिष्ट ने बताया कि वह रुडक़ी कोर्ट से रिमांड के एक मामले को लेकर वापस भगवानपुर थाने जा रहे थे। सेना की गाड़ी ने पीछे से टक्कर मार दी। उनके साथ धक्का मुक्की की गई। वह केवल बात करना चाहते थे। उन्होंने इस मामले में तहरीर दी है।

यह भी पढ़ें 👉  Sports Newsकिस्मत के मारे शुभमन गिल, बनते-बनते रह गया पहला वनडे शतक...

वहीं गंगनहर इंस्पेक्टर ऐश्वर्य पाल ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है कि वाहनों की टक्कर के बाद सैन्यकर्मी और पुलिसकर्मियों के बीच के विवाद में पुलिस ने शनिवार को मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने अज्ञात ट्रक चालक और अमन समेत आठ-दस अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट, जान से मारने की धमकी देने समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है। उप निरीक्षक लक्ष्मण सिंह कुंवर को मामले की जांच सौंपी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: जन्मदिन का केक लेने गए युवक पर हमला, फायरिंग में पांच घायल

भगवानपुर थाने के उपनिरीक्षक अनिल सिंह बिष्टका आरोप है कि विरोध पर ट्रक के चालक व अन्य सैन्य कर्मियों ने गाली-गलौच कर धक्का-मुक्की की थी। भीड़ बढऩे पर मौके पर मौजूद युवकों ने भी अभद्रता की थी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। आर्मी के वाहन को रोका गया तो आरोप है कि मौके पर मौजूद लोगों ने विरोध शुरू कर दिया था। सैन्यकर्मियों के पक्ष में नारेबाजी करने लगे। इस बीच सैन्य कर्मी वहां से ट्रक लेकर निकल गए।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *