उत्तराखंडः पहाड़ में हूटर बजाते दौड़ नहीं थी एंबुलेंस, चेक किया तो मरीज के बदले मिला 218 किलो गांजा..

खबर शेयर करें

Almora News: जिंदगी की तलाश में भागने वाली एंबुलेंस नशा तस्करी के काम में लाती पकड़ी गई है। जिले की भतरौंजखान थाना पुलिस ने एक एंबुलेंस की चेकिंग की तो इसमें से 218 किलो गांजा बरामद हुआ है। एनजीओ के माध्यम से पौड़ी में संचालित इस एंबुलेंस के ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसका सहायक फरार है। भतरौंजखान के एसओ मदन मोहन जोशी ने बताया कि रात के वक्त पहाड़ के रास्ते पर संभालकर चलने की हिदायत देने के लिए एंबुलेंस को रोका गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: पीएसएन के छात्र ने घोड़ाखाल सैनिक स्कूल की परीक्षा में लहराया परचम, आप भी दीजिए बधाई...

बातचीत के दौरान पुलिस को ड्राइवर और उसके सहायक पर शक हुआ। एंबुलेंस में कोई मरीज और तीमादार न देखकर शक और गहराया। पूछताछ पर चालक ने मरीज लेकर रामनगर जाने की बात कही। गाड़ी की तलाशी लेने की बात कहते ही ड्राइवर का सहायक एंबुलेंस में मरीज की जगह 16 कट्टों में 218 किलो गांजा भरा हुआ था। पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम रोशन लाल पुत्र चमन लाल जबकि फरार व्यक्ति का धर्मेन्द्र पुत्र राजेन्द्र निवासी ग्राम स्युन्सी थाना थलीसैंण जिला पौड़ी गढ़वाल बताया। आरोपी ने बताया कि यह एंबुलेंस ब्लॉक बीरोंखाल पौड़ी के लिए एनजीओ के माध्यम से अधिकृत है। मौके पर पहुंचे सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा की देखरेख में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस फरार आरोपी की तलाश में जुटी है।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking: कल हल्द्वानी में होगी उत्तर प्रदेश के सीएम योगी की रैली, पुलिस ने बदला वाहनों का रूट

एंबुलेंस को रोकने के बाद आरोपी ड्राइवर ने बेड पर मरीज होने की बात कही। पुलिस कर्मियों ने खिड़की से झांककर देखा तो मामला संदिग्ध लगा। छानबीन की तो मरीज की जगह बेड पर कट्टे रखे हुए मिले। शुरुआत में आरोपी ने कट्टे में सब्जियां होने की बात कही। पुलिस से खोलकर देखा तो कट्टों में गांजा बरामद हुआ। आरोपी बहाना बनाते रहे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

You cannot copy content of this page