उत्तराखंड: (दु:खद )- भूस्खलन से टनकपुर-चम्पावत हाईवे बंद,फंसी एबुलेंस, 10 साल के बच्चे की मौत…

TANKAPUR-PITHORAGADH HAWYE
खबर शेयर करें

Champawat News: पहाड़ से मैदान तक बारिश ने इन दिनों अपना कहर बरपाया है। खासकर पहाड़ों में बारिश बड़ी मुसीबत बनकर आयी है। कई जगह मार्ग अभी तक बंद है तो कई जगह भारी नुकसान भी हुआ है। अब पहाड़ से दुखद खबर सामने आ रही है। भूस्खलन के चलते टनकपुर-चम्पावत हाईवे बंद होने से एक एबुलेंस बीच में ही फंस गई। ऐसे में समय पर उपचार न मिलने से 10 वर्षीय बच्चे की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि ततैया पीली हड्डी के काटे जाने पर बच्चे को चंपावत जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया था, लेकिन स्वाला के पास सडक़ बंद होने के कारण एंबुलेंस आगे नहीं बढ़ पाई।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा: (बड़ी खबर)-सोमेश्वर में नौ लाख का लीसा पकड़ा, हल्द्वानी बेचने ला रहा था तस्कर

जानकारी के अनुसार एंबुलेंस को लोहाघाट-देवीधुरा के रास्ते हल्द्वानी ले जाने के लिए वापस लाया जा रहा था लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। विशुंग के पास बच्चे की हालत नाजुक होने पर परिजन उसे सीधे हल्द्वानी ले जाने के बजाय लोहाघाट अस्पताल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: (बड़ी खबर)-ढह गया नकलमाफिया हाकम का रिसोर्ट , उत्तराखंड में चर्चित रहा ये करोड़ों का रिसोर्ट

शनिवार ज्ञानी सेरान निवासी 10 वर्षीय रितिक थ्वाल पुत्र सुरेश चंद्र थ्वाल, नाशपाती तोडऩे के लिए खेतों में गया था। इस दौरान ततैया के झुंड ने उसपर हमला बोल लिया। गंभीर रूप से घायल रितिक को परिजन उपचार के लिए शाम छह बजे जिला अस्पताल लाए। चिकित्सकों ने उसे भर्ती कर लिया। बताया जा रहा है कि रात दो बजे करीब उसकी तबियत बिगड़ गई। जहां से चिकित्सकों ने उसे एंबुलेंस से हायर सेंटर रेफर कर दिया। जिसके बाद परिजन उसे हायर सेंटर ले जा रहे थे लेकिन स्वाला में मलबा गिरने से सडक़ बंद होने के कारण एंबुलेंस आगे नहीं जा पाई। इस दौरान उसकी मौत हो गई। हाईवे रात 10 बजे ही बंद हो गया । एनएच को खोलने में कार्यदाई कंपनी जुटी हुई है। पहाड़ी से लगातार मलबा गिरने से एनएच खोलने में काफी दिक्कत आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *