उत्तराखंड: खटीमा की छात्रा स्नेहा ने पूछा ऐसा सवाल, मुस्कुराने लगे पीएम मोदी…

खबर शेयर करें

Haldwani News: उधम सिंह नगर के खटीमा क्षेत्र की स्नेहा त्यागी ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक प्रेरणादायक सवाल किया। जिसका उत्तर प्रधानमंत्री मोदी ने मुस्कुराते हुए दिया। आपको बता दें कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर के छात्रों संग ‘परीक्षा पर चर्चा’ की। प्रधानमंत्री और सभी छात्रों के बीच हुई यह चर्चा भारत मंडपम, नई दिल्ली में आयोजित हुई। जहाँ सीधे प्रसारण के माधयम से देश के हर क्षेत्र के छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों ने प्रधानमंत्री से परीक्षा के दौरान होने वाले तनाव एवं अन्य आवश्यक विषयों पर अपने प्रश्न पूछे।

निजी स्कूल, खटीमा में कक्षा 7 की छात्रा स्नेहा त्यागी ने पूरे आत्मविश्वास के साथ प्रधानमंत्री से प्रश्न किया। स्नेहा का प्रधानमंत्री से प्रश्न था कि ‘हम आपकी तरह किसी भी परिस्थिति में सकारात्मक कैसे रह सकते हैं?’ परीक्षा और तनाव पर हो रही गंभीर चर्चा पर स्नेहा का यह सवाल सभी के चेहरे पर मुस्कराहट ले आया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः (बड़ी खबर)-बनभूलपुरा हिंसा में शामिल पांच और उपद्रवी गिरफ्तार, बाप-बेटे का लुक आउट जारी…

जिसका जवाब देते हुए शुरुआत में प्रधानमंत्री ने मुस्कुराते हुए कहा कि ‘यह जानकार अच्छा लगा कि आपको पता है प्रधानमंत्री पर कितना प्रेशर होता है।’ जिसके बाद प्रधानमंत्री ने वैश्विक महामारी कोरोना का ज़िक्र किया और बताया कि भारत के हर नागरिक द्वारा उनके आवाहन पर नियमों का किया गया पालन उस मुश्किल समय में उनकी शक्ति बना। प्रधानमंत्री ने अपने जवाब को आगे बढ़ाते हुए यह भी कहा कि हर मुश्किल स्थिति और निर्णय में भारत एवं भारत के नागरिकों के हित का सिद्ध होना उनकी प्रेरणा और लक्ष्य है, जिससे वे सकारात्मक ऊर्जा को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः कप्तान मीणा के हवालात में हर दंगाई का हिसाब, मैंने गलती से पत्थर फेंक दिया….

देश के साथ की गई प्रधानमंत्री की इस चर्चा में प्रधानमंत्री ने सभी शिक्षकों और बच्चों को कई अनोखे सुझाव दिए। शिक्षकों के लिए उन्होंने कहा कि केवल नौकरी करना उनका काम नहीं है, कई छात्रों के जीवन में सार्थक बदलाव लाना वह उनका कार्य है। बच्चों के लिए मोबाइल का सार्थक, सीमित और लाभदायक उपयोग के लिए प्रधानमंत्री ने सभी को स्क्रीनटाइम ऐप डाउनलोड करने की सलाह दी। अभिभावकों के लिए प्रधानमंत्री ने धैर्य और विश्वास की राह कभी ना छोड़ने का सुझाव भी दिया है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *