उत्तराखंड: आठ साल की बच्ची ने देखा मां और नानी का कत्ल, फिर डबल मर्डर से दहला यूएसनगर

DUBLE MURDR JASPUR
खबर शेयर करें

UDHAM SINGH NAGAR CRIME NEWS: रुद्रपुर में विगत महीने पहले डबल मर्डर से सनसनी मचा दी थी। जहां पानी को लेकर दो युवकों को गोलियों से भून दिया गया था। अब जसपुर में तलाकशुदा पत्नी की शादी दूसरे जगह तय होने से आक्रोशित युवक ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपनी सास और साली की पाठल मारकर हत्या कर दी। हत्याकांड के बाद आरोपी फरार हो गए हैं। मंगलवार की सुबह जीत कौर और परमजीत कौर अपनी आठ साल की बेटी नैना को साथ लेकर बैंक के कार्य से जसपुर आ रही थी। इसी दौरान बढय़िोबाला गांव के पास बंटी ने साथियों के साथ मिलकर पाठल से कई वार किर दिए। इस दौरान दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

Ad

आठ वर्षीय नैना अपनी मां और नानी की हत्या की चश्मदीद गवाह है। उसने अपनी आंखों से कत्ल देखा। उसके सामने ही हत्यारों ने बेरहमी से मां और नानी का कत्ल कर दिया। नैना के अनुसार हत्यारे तीन थे, जिनमें से वह बंटी को पहचानती है। वारदात से पहले हत्यारे झािडय़ों में छिपे थे। पाटल से हमला करने के बाद मां और नानी ने खुद को बचाने का प्रयास किया। दहशतजदा बच्ची ने मौके से भागकर अपनी जान बचाई।

Ad

बताया जा रहा है कि भोगपुर गांव निवासी जीत कौर की बेटी परमजीत कौर तलाक होने के बाद अपनी मां के पास रहती थी। जीत कौर ने अपनी भतीजी बलविंदर कौर को गोद ले रखा था। दो साल पहले उसने टांडा प्रभापुर निवासी बंटी से प्रेम विवाह किया था। एक साल पहलेे बलविंदर कौर का भी तलाक हो गया था। इसी बीच उनके एक बेटी भी हुई थी जिसे उसका पति ले गया था। तलाक होने के बाद वह अपनी मां जीत कौर के पास ही रह रही थी। तलाक होने के बाद भी दोनों मोबाइल पर एक-दूसरे से बात करते थे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: (Big News)-थप्पड़ का बदला लेनेे को कर दिया मर्डर, हल्द्वानी में तीसरे दिन दूसरा मर्डर…

जीत कौर को ये बात पसंद नहीं थी। इसलिए उसने अपनी दत्तक पुत्री बलविंदर की शादी सितारगंज में तय कर दी थी। आगाी 28 अगस्त को बरात आने वाली थी। आरोप है कि शादी की जानकारी मिलने पर रविवार की देर शाम को बंटी अपनी तलाकशुदा पत्नी से मिलने आया था। इसके बाद बंटी का अपनी सास जीत कौर और बड़ी साली परमजीत कौर से झगड़ा हो गया था। झगड़े में जीत कौर ने बंटी की पिटाई कर दी थी। उस समय वह दोनों मां बेटी को जान से मारने की धमकी देकर चला गया था।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *