उत्तराखंड: बीके सामंत की बिन्दुली ने जमाया रंग, पांच करोड़ होने में सिर्फ चंद कदम दूर थल की बजारा गीत…

BINDULI SONG BK SAMANT UTTARAKHAND
खबर शेयर करें

PAHAD PRABHAT NEWS: (JEEVAN RAJ EXCLUSIVE)- उत्तराखंड के लोकगायक बीके सामंत हमेशा ही पहाड़ की पीड़ा को अपने गीतों के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाने का काम करते है। लोकगायिकी में आने के बाद बीके सामंत ने उत्तराखंड के संगीत को एक नया मुकाम दिया। अपने गीत मेरो पहाड़, तू ऐ जा ओ पहाड़ से जहां उन्होंने पहाड़ की खूबसूरती और पलायन के दर्द को बंया किया वहीं। थल की बजारा जैसे सुपरहिट गीत से उत्तराखंड के संगीत प्रेमियिों को खूब थिरकाने का काम किया। काफी कम समय में बीके सामंत जैसे लोकगायक ने उत्तराखंड के संगीत जगत में अपनी आवाज से जो अमिट छाप छोड़ी है वह उत्तराखंड संगीत के इतिहास में बन गया है।

यह भी पढ़ें 👉  Big breaking: अल्मोड़ा में बुजुर्ग को मारी गोली, मचा हड़कंप

जल्द रिलीज होगा ओ बांज झुर्पराली बांज गीत

पहाड़ प्रभात के संपादक जीवन राज से खास बातचीत में लोकगायक बीके सामंत ने कहा कि जल्द उनके गीत ओ बांज झुर्पराली बांज को वीडियो गीत रिलीज होने जा रहा है। इससे पहले उनके बिन्दुली गीत को लोगों ने खूब प्यार दिया। लोगों ने इस गीत की जमकर तारीफ की। वैसे भी लोकगायक बीके सामंत बेस्ट क्वालिटी का गीत लाने में माहिर है। इससे पहले उनके गीत यो मेरो पहाड़, थल की बजारा, तू ऐ जाओ पहाड़, सात जनम सात वचन, पंचेश्वर बांध, देवताओं को थान जैसे गीतों से लोगों को दिलों पर राज कर चुके है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: खाने में नॉनवेज के बजाय बीबी ने बनाई दाल तो जमकर की धुनाई, फिर ऐसे किया हाई वोल्टेज ड्रामा

लोकगायिका में बड़े मुकाम पर पहुंचे सामंत

लोकगायक बीके सामंत ने बताया कि उनका उद्देश्य पहाड़ की संस्कृति को बचाने का है। जिसे वह बखूबी निभा रहे है। जिस तरह से बीके सामंत अपने गीतों के माध्यम से लोगों के दिलों पर राज करते है। वाकई में यह एक लोकगायक के लिए बड़ी बात है। वैसे भी पहाड़ में लोकगायक बीके सामंत जैसे गायक काफी कम है जो खुद अपना गाना लिखने के साथ ही म्यूजिक भी खुद ही तैयार करते है। उत्तराखंड के सुर सम्राट गोपाल बाबू गोस्वामी जी के बाद जिसे लोकगायक ने युवाओं और बुर्जुगों के दिलों पर अपनी जगह बनाई है। वह नाम सिर्फ बीके सामंत का है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: बाप ने किया सो रहे बेटे पर कुल्हाड़ी से वार, हालत गंभीर

पांच करोड़ पहुंचा थल की बजारा

लोकगायक बीके सामंत का गीत थल की बजारा पांच करोड़ पहुंचने में सिर्फ चंद कदम दूर है। यह पहला गीत है जो पांच करोड़ की लिस्ट में शामिल होने जा रहा है। इससे पहले थल की बजारा पहला गीत बना था जो कुमाऊं में पहला करोड़पति बना था। अब पांच करोड़ व्यूज पाने गीत की श्रेणी में शािमल हो जायेगा। बीके सामंत ऐसे अकेले गायक है जिनके गीतों में करोड़ों व्यूज है। वह लगातार अपने गीतों के माध्यम से उत्तराखंड की लोक संस्कृति को बचाने का प्रयास कर रहे है जिसमें वह काफी हद तक सफल साबित हुए है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *