हल्द्वानी: लालकुआंवासियों से हरदा ने की ये अपील…

HARDA
खबर शेयर करें

HALDWANI NEWS: लालकुआं विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक प्रत्याशी एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने लालकुआं क्षेत्र की जनता के नाम अपनी अपील जारी कर दी है। अपनी अपील में उन्होंने क्षेत्र की समस्याओं और यहां के लिए संचालित की जाने वाली विकास योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया है। उन्होंने कहा है कि लालकुआं विधानसभा क्षेत्र पूरे प्रदेश में एक आदर्श विधानसभा क्षेत्र के रूप में सामने होगी।

रावत का कहना है कि लालकुआं विधानसभा क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जहां कर्मठता, उत्तराखंडी संस्कृति और आधुनिक ज्ञान तथा तकनीक का समावेश कर उन्नति की राह में आगे बढ़ने की चाह रखने वाले भाई-बहन निवास करते हैं। यहां नौजवानों और हमारी बेटियों में उत्साह और उमंग है, तथा जीवन की कल्पनाएं उनके दिलों में हिलोरे ले रही हैं। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हरीश रावत उनकी सोच के नक्शे में उन्नति और तरक्की के रंग भरेगा और यह रंग अपनी सेवा समर्पण तथा एक स्पष्ट सोच समाज से भरेगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः खाकी पर फिर लगा दाग, हल्द्वानी में पुलिसकर्मी ने बीएससी की छात्रा से की छेड़छाड़…

रावत का कहना है कि लालकुआं क्षेत्र के सभी शहीदों को जिन्होंने भारत माता की सीमाओं की रक्षा व आतंकवाद के खात्मे के लिए अपने प्राणों का बलिदान किया है उन्हें वह नमन करते हैं। उन्होंने वादा किया है कि वह शहीदों के परिवारों के एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने के साथ ही परिवार को 25 लाख रुपए राज्य सरकार की तरफ से सम्मान राशि के रूप में देंगे। सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रितों की पेंशन को सम्मान स्थिति तक पहुंचाएंगे। पूर्व अर्धसैनिक बल और पुलिस परिवारों के कल्याण के लिए सर्वाधिक योजनाएं बनाने का काम करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपनी अपील में जनता से यह वादा किया है कि वह बिंदुखत्ता क्षेत्र की मालिकाना हक की लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाएंगे। उनका कहना है कि बिंदुखत्ता क्षेत्र उत्तराखंडियत और उत्तराखंडी संघर्ष का प्रतीक है। वर्ष 1980 में जब बिंदुखत्ता क्षेत्र अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए संघर्ष कर रहा था तब वह अल्मोड़ा क्षेत्र के सांसद थे, और वह बिंदुखत्ता की जनता के साथ खड़े रहे। हरीश रावत यह वादा करता है कि बिंदुखत्ता राजस्व गांव की लड़ाई को सफलता के मुकाम तक पहुंचाएगा। इसके अलावा लालकुआं, गौलापार एवं चोरगलिया क्षेत्र के गांव के भाई बहनों से भी वादा करना चाहता हूं कि क्षेत्र के मालिकाना हक के संघर्ष को मेरी सरकार ने स्वीकृति प्रदान की थी, उसे भी मुकाम तक पहुंचाया जाएगा। इसके अलावा मैं कहना चाहता हूं कि गौला यदि वरदान है तो एक बड़ी चुनौती भी है। इस चुनौती को स्वीकार करते हुए हमने गौला से भूमि कटाव को बचाने के लिए बाढ़ नियंत्रण का काम शुरू किया था। मगर भाजपा के लोगों ने वह काम रोक दिया। गौला का रिवरफ्रंट डेवलपमेंट गौला ओवरब्रिज का निर्माण हरीश रावत की प्रतीक्षा कर रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: खेलकर लौट रहा था बालक, तभी उठा ले गया गुलदार, मौत...

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि हमारी सरकार ने दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के लिए लालकुआं को फोकल प्वाइंट मानकर योजनाएं प्रारंभ की थी। हमने गंगा गाय योजना प्रारंभ कर लोगों को गाय पालन के लिए प्रोत्साहित किया तथा बोनस के रूप में 4 रुपए प्रति लीटर अतिरिक्त दिया। हम इस बोनस राशि को और बढ़ाएंगे। मेरा गांव मेरा रोजगार को लक्ष्य मानते हुए दुग्ध उत्पादन को सशक्त बनाया जाएगा। जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए सबसे पहले हम गोबर खरीदकर वर्मी कंपोस्ट बनाने का काम करेंगे। इन सब चीजों का केंद्र बिंदु लाल कुआं ही होगा।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *