उत्तराखंड: आटा चक्की के पट्टे में फंसे दो बच्चों को मिली दर्दनाक मौत, बदहवास हुए परिजन

HARIDWAR CRIME NEWS
खबर शेयर करें

HARIDWAR NEWS: बच्चों के साथ हादसे की खबरें आपने सुनीं होगीं लेकिन आज हम आपकों एक ऐसी खबर बताने जा रहे है। जो बेहद दुखद और रोंगटे खड़ी कर देने वाली है। मामला हरिद्वार जिले का है जहां कोटा मुरादनगर गांव में आटा चक्की के पट्टे में फंसकर दो बच्चों की मौत हो गई। आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत हो गई। एक साथ दो बच्चों की मौत से गांव में कोहराम मच गया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और घटना के बारे में जानकारी जुटाई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: आसमान से गिरी बिजली, महिला की मौत

गेहूं की पिसाई को गये थे चक्की

जानकारी के अनुसार हरिद्वार के कोटा मुरादनगर गांव में चौहल सिंह सैनी की आटा चक्की है। गांव के शौकीन ने चक्की में गेहूं पिसाने के लिए दिये थे। शुक्रवार शाम को चार बजे शौकीन की 14 वर्षीय की बेटी सोनम आटा लेने के लिए चक्की पर गई थी। तभी उसके साथ पड़ोस में रहने वाले रुस्तम अली का पांच वर्षीय बेटा अर्श व मोहल्ले के अन्य बच्चे भी गए थे। जब बच्चे वहां पहुंचे तो चक्की पर गेहूं की पिसाई हो रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: खाई में गिरा वाहन, भाजपा नेता की दर्दनाक मौत...

मासूम को बचाने दौड़ी सोनम

तभी अचानक पांच साल का अर्श चक्की के पट्टे की चपेट में आ गया। उसे देख सोनम बचाने के दौड़ी तो वह भी पट्टे में उलझकर घूमने लगी। चक्की के पट्टे में उलझकर नीचे गिरने के बाद सोनम की मौके पर ही मौत हो गई। जैसे ही चौहाल सिंह को घटना का पता चला तो उन्होंने चक्की को बंद की। इसके बाद घायल अर्श को उपचार के लिए परिजन रुडक़ी के एक अस्पताल ले गए।

अस्पताल में अश ने तोड़ा दम

अस्पताल में उपचार के दौरान अर्श ने भी दम तोड़ दिया। दो बच्चों के मौत की खबर गांव पहुंची तो कोहराम मच गया। गांव के लोग बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे। दो बच्चों की मौत से परिजनों का रो रोकर बुराहाल हो गया। इस मामले में पिरान कलियर थाना प्रभारी धर्मेंद्र राठी ने बताया कि सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। दोनों बच्चों के शवों का पंचनामा भरा गया है। बच्चों के परिजन पोस्टमार्टम करवाने से इनकार कर रहे हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *