उत्तराखंडः जिसने दी थी जान से मारने की धमकी, उसी के घर में मिली युवक की लाश…

खबर शेयर करें

Dehradun News: राजधानी में एक सनसनीखेज मामला सामने आया हे। यहां पटेल नगर क्षेत्र में 11 दिन पहले एक युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। मृतक के भाई की तहरीर पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है। जानकारी के अनुसार मोहल्ला कस्सावान, कस्बा मंडावर, जिला बिजनौर, यूपी निवासी मनोहर सिंह ने पुलिस को तहरीर देते हुए लिखा कि उसक बड़ा भाई छोटू पत्नी शीतल व तीन बच्चों के साथ पटेलनगर में रहा रहा था। छोटू का धनंजय कुमार गौतम निवासी कोपागंज, मऊ, यूपी से झगड़ा हो गया था। धनंजय ने छोटू और उसकी पत्नी शीतल को जान से मारने की धमकी दी थी। आगे पढ़िए…

बताया जा रहा है कि विगत 14 जून को मां ने छोटू को दिन में करीब 11 बजे फोन किया तो छोटू ने बताया कि वह धनंजय के साथ है। छोटू की पत्नी शीतल अपने तीन बच्चों के साथ हनोल, चकराता गई थी। इसके बाद उसकी बीबी 11.30 बजे छोटू को फोन किया था। छोटू ने भी अपनी पत्नी को यही बताया कि वह धनंजय के साथ है। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः उपचुनाव में कांग्रेस की दो सीटों पर जीत के बाद बल्यूटिया के बयान ने मचाई हलचल

जब शाम को उसकी पत्नी ने अपने पति छोटू को फिर फोन किया, तो घंटी बजने के बाद फोन बंद हो गया। वह पूरी रात परेशान रही और अगले दिन 15 जून को देहरादून पहुंच गई। इसके बाद वह पटेलनगर में काली माता मंदिर के निकट स्थित धनंजय गौतम के कमरे पर पहुंची तो वहां छोटू बेसुध पड़ा था। उसके शरीर पर जलने के निशान थे। धनंजय वहां मौजूद था। जिसके बाद छोटू को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन चिकित्सको ने उसे मृत घोषित कर दिया। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः अखिल उद्योग व्यापार मंडल की कार्यकारिणी का विस्तार, डिंपल पांडेय बने नगर अध्यक्ष

आरोप लगाया कि छोटू की हत्या धनंजय कुमार गौतम ने की है, क्योंकि उसका छोटू के साथ झगड़ा हो चुका था और उसने जान से मारने की धमकी भी दी थी। इस मामले में पटेलनगर कोतवाली के इंस्पेक्टर सूर्य भूषण नेगी ने बताया पोस्टमार्टम रिपोर्ट में करंट लगने के कारण हार्ट अटैक से मौत होना कारण बताया गया है। तहरीर पर धनंजय कुमार गौतम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]