उत्तराखंड: कूड़े के ढेर में मिले बोरे से निकली महिला की लाश, खुलासे के लिए पुलिस ने पकड़ा ये एंगल….

MURDER RUDRPUR UTTARAKHAND
खबर शेयर करें

RUDRAPUR CRIME NEWS: उधमसिंह नगर जिले में अपराधों का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है। विगत दिनों एक युवक ने अपनी प्रेमिका का मर्डर कर दिया। यह मामला अभी शांत नहीं हुआ था कि अगले ही दिन कल्याणी नदी में एक बोरे के अंदर एक महिला की लाश मिली। मौके पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। सूचना पर पुलिस में हडक़ंप मच गया। जिले में लगातार बढ़ रहे अपराधों से लोगों में दहशत है। महिला की पहचान नहीं हो पायी। शिनाख्त न होने पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः मैसेज में आया लिंक, खोला तो फौजी के खाते से उड़ गये दो लाख

बंधे थे महिला के हाथ-पांव

घटना सोमवार शाम करीब पांच बजे की है। कल्याणी नदी के पास से गुजर रहे लोगों को बदबू आयी तो लोगों की नजर कूड़े के ढेर में पड़े बोरे पर गई। जब लोग पास गये तो बोरे में महिला का सिर दिखाई दी। महिला की लाश देखकर क्षेत्र में सनसनी फैल गई। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर सीओ सिटी अमित कुमार, प्रशिक्षु सीओ सुमित पांडेय, एसएसआई प्रवीण कुमार, रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी, एसआई मनोज जोशी पुलिस टीम के साथ पहुंच गए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: (दुखद)- मां-बेटे को कार ने रौंदा, विदेश जा रहा था बेटा

लापता लोगों की कुंडली जुटा रही पुलिस

मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से नदी से बोरे में बंद महिला की लाश बाहर निकाली। इस दौरान महिला के हाथ पैर बंधे हुए मिले। इसके बाद पुलिस ने शिनाख्त करने का प्रयास किया लेकिन महिला की शिनाख्त नहीं हो सकी। पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। रिपोर्ट मिलने के बाद ही पता चलेगा कि महिला की हत्या की गई है या नहीं। इसके बाद पुलिस ने लापता महिलाओं के संबंध में जानकारी जुटाई है। साथ ही पुलिस ने मृतका का डीएनए सेंपल भी सुरक्षित रख लिया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः जापानी बुखार से सुशीला तिवारी अस्पताल में एक की मौत, एक और मरीज है भर्ती

डीएनए रिपोर्ट पहुंचायेगी परिजनों तक

इस मामले में कोतवाल विजेंद्र शाह ने बताया कि प्रथम दृष्टया महिला की हत्या कर शव फेंके जाने की संभावना है। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। रिपोर्ट आने पर साफ हो जायेगा कि महिला की हत्या किस तरह से की गई है। कोतवाल ने बताया कि 72 घंटे बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। ऐसे में बाद में कोई लावारिस महिला के शव का वारिस बनकर आए तो उससे डीएनए का मिलान किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *