उत्तराखंडः जानवरों से बचाव को लगाई थी तारबाड़, करंट लगने से मामा-भांजे की दर्दनाक मौत

खबर शेयर करें

Dineshpur News: बिजली के तार में करंट आने से उसकी चपेट में आकर मामा-भांजे की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जंगल से सटे चंडीपुर गांव में जानवरों से फसल की सुरक्षा के लिए खेत में बिजली के तार लगाए गए थे। हादसे की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार ग्राम चंडीपुर निवासी किसान राजबिहारी राय उम्र 55 वर्ष खेत बटाई पर लेकर खेती करते थे। ान में उन्होंने गांव के ही शेर सिंह की चार एकड़ जमीन पर धान की फसल लगाई थी। परिवार के लोगों ने बताया कि शनिवार रात खेत में ट्यूबवेल से सिंचाई की जा रही थी। राजबिहारी गांव के ही अपने सगे मामा मनीपद मंडल उम्र 50 वर्ष को साथ लेकर खेत का निरीक्षण करने गए थे। इस दौरान दोनों खेत में जानवरों से फसल के बचाव के लिए लगाई गई बिजली के तार-बाड़ की चपेट में आ गये। जिससे करंट आने से दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। रातभर दोनों के शव खेत में ही पड़े रहे।

यह भी पढ़ें 👉  UKPSC: PCS परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी, इस दिन होगी प्रारंभिक परीक्षा

रविवार सुबह एक ग्रामीण ने दोनों के शव खेत के पास पड़े देखे तो अन्य ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। सूचना पर एसआई प्रदीप भट्ट पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दोनों की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। पोस्टमार्टम के बाद शाम को दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]