उत्तराखंड: नया इतिहास लिखने में जुटे बागेश्वर के फुटबालर रोहित दानू, खेल चुके है फीफा अंडर-17 विश्वकप

rohit danu
खबर शेयर करें

UTTARAKHAND NEWS: आज पहाड़ की प्रतिभाओं को उचित मंच न मिलने से वह अन्य राज्यों की ओर से खेेलने को विवश है। इसके कर्ई उदाहरण हमारे पास है। इसका मुुख्य कारण पलायन है जो वर्र्षोंं से लगातार जारी है। इसी पलायन के चलते भारत के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी, मनीष पांडेय, कमलेश नगरकोटी, रिषभ पंत, पवन नेगी, आर्यन जुयाल जैैसे प्रतिभावान खिलाड़ी अन्य राज्यों की ओर से खेलते है।

मनीष व कमलेश के बाद रोहित का जलवा

आईपीएल में कई खिलाडिय़ों ने प्रभावित किया, उनमें पहला नंबर आता है आईपीएल में पहला शतक जमाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी मनीष पांडेय का। इसके बाद कमलेश नगरकोटी ने साल 2018 अंडर-19 विश्वकप में अपनी गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया। ये दोनों खिलाड़ी पहाड के एक छोटे से जिले बागेश्वर के है। अब बागेश्वर का एक औैर सितारा इन दिनों चमक बिखेेर रहा है। वह क्रिकेट का नहीं बल्कि फुटबॉल का खिलाड़ी है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: महिला को सम्मोहित कर उड़ाए कानों के कुंडल और मंगलसूत्र, पल भर में गायब हुआ युवक
ROHIT DANU FOOTBOLLER

13 साल की उम्र में उत्तराखण्ड फुटबॉल टीम में जगह

रोहित दानू का संघर्ष 10 साल की उम्र से शुरू हो गया है। मात्र 13 साल की उम्र में रोहित ने उत्तराखण्ड फुटबॉल टीम में जगह बनाई। अपने पहले ही मैच में उन्होंने ऐसा जलवा दिखाया कि उन्हें विदेशों मेंं खेलने का मौका मिल गया। पिता प्रताप सिंह दानू और मां गंगा दानू ने अपने बेटे के सपने को पंख देने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: महिला को सम्मोहित कर उड़ाए कानों के कुंडल और मंगलसूत्र, पल भर में गायब हुआ युवक

रोहित को हैदराबाद ने अपने साथ जोड़ा

फुटबालर रोहित दानू भारतीय अंडर 14, 15,16 और 17 टीम से खेल चुके हैं, वह भारतीय अंडर-19 टीम के सदस्य हैं। सेंटर फॉरवर्ड रोहित ने अपने गेम से कई लोगों को प्रभावित किया है। वर्ष 2017 में बागेश्वर के सुरजकुंड निवासी रोहित दानू का चयन फीफा अंडर-17 विश्वकप में हुआ था। रोहित दानू इंडियन सुपर लीग का भी हिस्सा हैं। उन्हें हैदराबाद एफसी ने अपने साथ जोड़ा है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *