उत्तराखंड: फोन पर जिसे लडक़ी समझकर बात की मिलने पर वह लडक़ा निकला, फिर कर दी हत्या…

The boy turned out to be a girl who talked on the phone,
खबर शेयर करें

RUDRAPUR NEWS: आज एक मर्डर रुद्रपुर पुलिस ने खुलासा किया। जिसमें एक साल पहले लापता एक नाबालिग किशोर के हत्यारों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी होने के बाद आरोपी से पूछताछ में जो सामने आया वो चौका देने वाला था। हत्यारोपी जिसे लडक़ी समझकर फोन करता था। वह मिलने के बाद लडक़ा निकला। जिसके बाद हत्यारोपी ने उसे मौत के घाट उतार दिया। फिर अपने जीजा के साथ मिलकर उसकी लाश खटीमा में फेंक दिया। इसके बाद आरोपी फरार हो गया। घटना पिछले साल मार्च की है।

Ad

पीडि़त पक्ष ने पुलिस को तहरीर देते हुए उसका पुत्र उम्र 16 वर्ष को कोई बहला फुसला कर घर से ले गया है। दौरान विवेचना एक अज्ञात व्यक्ति का शव थाना खटीमा क्षेत्र में दि0 29.03.2021 को बरामद हुआ जिसका पुलिस द्वारा 72 घण्टे बाद फोटोग्राफ कर दाह संस्कार कर दिया गया एवं मृतक के कपड़े सुरक्षित रख दिये कपडो की एवं फोटो की शिनाख्त हेतु मृतक के माता-पिता को थाना खटीमा ले जाया गया तो मृतक की मां अपने लड़के के रूप में पहचान लिया किन्तु लड़के के पिता के द्वारा पहचानने में संदेह किया, जिस कारण मृतक के माता पिता का DNA सेम्पल लेकर मृतक से मिलान किया तो दोनों ही मृतक के जैविक माता-पिता होना पाये गये।

Ad

घटना स्थल के CCTV कैमरे चेक करने पर मृतक/गुमशुदा को उसे घर के पास से कोई व्यक्ति अपनी बाइक में बैठाकर ले जाता हुआ दिखाई दिया। मृतक का लोकेशन चैक करने पर उसके मो0 से एक मो0न0 की सबसे अधिक बात हुई थी। उसके बाद मृतक के एवं सदिग्ध मो० न० का लोकेशन चैक किया तो दोनो भूरारानी से होते हुए दिल्ली और दिल्ली से चण्डीगढ़ तक पहुंचा वहाँ पर मृतक का मो० नम्बर बन्द हो गया तथा सदिग्ध मो० न० का लोकेशन खटीमा में जहाँ पर मृत्तक की बाड़ी मिली वहा पर बन्द हो गया। उसके बाद दोनो मोबाईल और सिम कभी चालू नहीं हुए। संदिग्ध मोबाईल पर गुरजन्त सिंह S/O बखविन्दर सिंह R/O सस्तमपुर पो० रम्पुरा बुर्जुग थाना खजूरिया जिला रामपुर उ0प्र0 का पता पाया गया। जिसकी तभी से संदिग्धता के आधार पर तलाश जारी थी। किन्तु वह मिल नहीं पा रहा था अभि. की तलाश एवं मुकदमे के अनावरण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा एक टीम का गठन किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: जून के दूसरे सप्ताह में आयेगा उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट, पढिय़े पूरी खबर…

इस बीच समय अधिक हो जाने के कारण अभि0 गण निश्चिन्त हो गये थे, गुरजन्त के घर तलाश करने पर वह घर पर नहीं मिलता था। उसके घर पर परिजनों को बताया कि गुरजन्त का कोई लडाई झगडे का मामला है इस सम्बन्ध मे उससे पूछताछ किया जाना आवश्यक है जिस कारण उसके चाचा गुरजन्त को 09.03.2022 को कोतवाली रुद्रपुर उपस्थित लाये। जिनके समक्ष गुरजन्त से पूछताछ करने पर उसने बयान किया कि लड्डू उर्फ रणजीत से मेरी मुलाकात फोन काल से हुई वह लड़की बनकर बात करता था जब उससे आमने सामने मुलाकात हुई तब भी वह जीन्स टाप पहने हुए एक सर में चुन्नी डाले ही मिला और अपना नाम भी लड़की का ही बताया मुझे भी विश्वास था कि यह लड़की ही है। दिए 24.3. 2021 को गुरजन्त ने मृतक से शादी करने का प्रस्ताव रखा] जिसे मृतक ने स्वीकार किया, तब अभियुक्त मृतक को अपनी बाइक से अपने घर बिलासपुर ले गया ।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: समस्या है तो उसका समाधान भी है, मिलिये ज्योतिषाचार्य पं. पवन डंडरियाल से..

जहा अभियुक्त ने उसके साथ संबंध बनाने चाहे तो तब उसे पता लगा कि वह लड़की नहीं है लड़का है, तब उसने मृतक के साथ अप्राकृतसंबंध बनाए और पुलिस के डर के मारे दोनों अगले दिन चण्डीगढ़ चले गये। किन्तु उसने यहाँ रहने से मना किया तो फिर अभि0 के घर रुद्रपुर आ गये। मृतक अपने घर नहीं जाना चाहता था | किन्तु गुरजन्त भी अब उसे अपने साथ नहीं रखना चाहता था। इस बात की पूरी जानकारी अभि ने अपने जीजा साहब सिंह उर्फ सब्बी निवासी मझीला पीलीभीत को बताई तो उसके जीजा ने बताया कि इसे मझौला ले आओ यहा किन्नर रहते है। इसे उनके साथ छोड़ देंगे। दि 27.03.2021 की रात्रि में दोनों अपने जीजा के घर खाकर सो गये रात में अभि गुरजन्त ने उसका एक हाथ से गला दवाया और दूसरे हाथ से तकिया से उसका मुह और नाक बन्द किया और उसे मार दिया। यह बात उसने सुबह अपने जीजा साहब सिंह को बतायी कि मैंने इसे मार दिया है तब 28.3.2021 की रात्रि में दोनो जीजा साले बाईक से उसे खटीमा के जंगल ले गए और जंगल में फेंक दिया। अभि गुरजन्त चण्डीगढ़ भाग गया। जिन्हें गिरफ्तार कर आज न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *