उत्तराखंड: (निर्मला हत्याकांड)-10 साल पहले परवान चढ़ा था निर्मला और भोला का प्यार, पढिय़े पति-पत्नी और प्रेमिका की पूरी कहानी…

खबर शेयर करें

RUDRAPUR CRIME NEWS: रविवार को ऊधमसिंह नगर के रुद्रपुर में हुई हत्या के बाद सनसनी फैल गई। हत्याकांड के बाद कई तरह की चर्चांए है। हत्याकांड के बाद आरोपी भोला ने निर्मला को पत्नी मानने से इनकार कर दिया। बबीता उसकी पत्नी है जबकि मृतक निर्मला उसकी प्रेमिका थी। हत्याकांड को बाद हालांकि पुलिस ने हत्यारोपी को पकड़ लिया। लेकिन हत्याकांड की असल वजह का पता लगाया जा रहा है।

हत्यारोपी ने दो शादियों से किया इंनकार

रुद्रपुर का ट्रांजिट कैंप अपराधों का गढ़ बन चुका है।आये दिन अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही है। हत्यारोपी भोला वार्ड नंबर 11 का निवासी है। वह भवन निर्माण का काम करता है। बताया जा रहा है कि भोला की दो शादियां हैं। जबकि पुलिस पूछताछ में उसने दो शादी से इनकार किया है। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि विवाह से पहले उसका 26 वर्षीय निर्मला से प्रेम संबंध था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:(बड़ी खबर)- खुलेआम चल रहा जुआ, राजपुरा के चार जुआरी गिरफ्तार

पिथौरागढ़ की है निर्मला

बताया जा रहा है कि करीब 10 साल पहले पिथौरागढ़ की रहने वाली निर्मला से भोला उर्फ किंकर मंडल की मुलाकात हुई। इसके बाद दोनों के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। इस दौरान दोनों ने ही साथ जीने मरने की कसम खाईं। इस बात की खबर भोला के परिजनों को लगी तो उन्होंने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी निवासी बबिता से 2016 में भोला की शादी कर दी। लेकिन शादी के बाद भी भोला और निर्मला का मिलना जारी रहा। जिसके बाद निर्मला का एक पुत्र हुआ। जो चार साल का है। भोला ने प्रेमिका निर्मला के लिए मलिक कालोनी में मकान बनाया था, जहां पर वह अपने बेटे के साथ रह रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः (बड़ी खबर): सीएम धामी ने दिये बाहरी लोगों के सत्यापन के निर्देश, जमीन खरीदने वालों की खंगाली जायेंगी पुरानी कुंडली

बिना शादी के हुआ बच्चा

ऐसे में पत्नी बबिता और परिजनों के दबाव में दोनों का मिलना जुलना कम हो गया। इसके बाद निर्मला महिला हेल्पलाइन में चली गई। बताया जा रहा है कि बाद में भोला ने निर्मला से छुटकारा पाने के लिए मकान बनाकर भी दे दिया। लेकिन वह साथ रहने का दबाव बनाती थी।पुलिस ने बताया कि पूछताछ में हत्यारोपी भोला ने मृतका निर्मला को अपनी पत्नी मानने से इंकार किया। उसका कहना था कि दोनों के बीच सिर्फ अवैध संबंध ही था। निर्मला की मौत के बाद चार साल का बेटा अनाथ हो गया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]