उत्तराखंड: मौसी ने करा दी बांग्लादेश में किशोरी की शादी, पड़ोसी के मोबाइल से उत्तराखंड में भाई को सुनाई आपबीती

NABALIK KI SHADI
खबर शेयर करें

UDHAM SINGH NAGAR CRIME NEWS: नाबलिकों की शादी को लेकर खबरें आती रहती है। पिछले कुछ महीनों में पहाड़ और तराई में कई मामले ऐसे मिले थे। जहां नाबलिक किशोरियां दुल्हन बनने वाली थी लेकिन ऐन वक्त पर पुलिस ने उनकी जिंदगी बचाते हुए कई सौदागरों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। अब ऐसा ही मामला उत्तराखंड से जुड़ा है जहां बांग्लादेश में मौसी के यहां रह रही किशोरी की शादी पश्चिम बंगाल के कोलकाता में करा दी गई। लेकिन किशोरी ने बगावत कर दी। किसी तरह उसने उत्तराखंड किच्छा में रहने वाले अपने भाई से संपर्क किया। जिसके बाद भाई ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है।

Ad

जानकारी के अनुसार ऊधमसिंह नगर के ग्राम चुकटी देवरिया किच्छा निवासी युवक की शादी ग्राम चीतलमारी, जिला बागेरहाट बांगलादेश निवासी फूलमाला के साथ हुई थी। शादी के कुछ साल फूलमाला यही ससुराल में रही। लेकिन करीब 15 साल पहले वह अपनी पांच साल की बेटी को लेकर मायके चली गई। इसके बाद वर्ष 2019 में बेटी की कोलकाता में मौसी ने एक युवक के साथ जबरन शादी कर दी गई। ऐसे में किशोरी ने ससुराल में भी बाल विवाह के खिलाफ बगावत की तो ससुराल के लोग उसका उत्पीडऩ करने लगे।

यह भी पढ़ें 👉  UTTARAKHAND JOB: इस विभाग निकली बंपर भर्ती, उपनल के माध्यम से भरे जायेंगे पद…

आये दिन की यातनाओं से तंग आकर किशोरी ने पड़ोसी के मोबाइल फोन से अपने भाई को आपबीती बताई। जिसके बाद भाई ने कोलकाता पहुंचकर बहन को घर लाने का प्रयास किया लेकिन वापस नहीं ला सका। इसके बाद उसने ससुरालियों के खिलाफ केस दर्ज कराया। केस दर्ज होने के बाद पुलिस ने उत्तर 24 परगना के जिला बाल कल्याण समिति के सहयोग से किशोरी को सुकन्या होम कोलकाता में रहने की व्यवस्था कराई।

यह भी पढ़ें 👉  UTTARAKHAND GOVT JOB: 201 पदों पर निकली बंपर भर्ती, UKSSSC ने जारी किया नोटिफिकेशन...

शुक्रवार को सुकन्या होम की टीम किशोरी को लेकर जिला बाल कल्याण समिति ऊधमसिंह नगर रुद्रपुर पहुंची। इसके बाद सभी दस्तावेजों की जांच के बाद समिति सदस्य अमित श्रीवास्तव व प्रेम ङ्क्षसह ने किशोरी को उसके पिता के हवाले कर दिया। पिता व भाई से मिलते ही किशोरी के चेहरे पर खुशी दिखी।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *