उत्तराखंड: अगर आपके पास है पीला राशनकार्ड तो पढ़ लिजिए ये खबर, जारी हुआ आदेश

APL RASHANCARD UTTARAKHAND
खबर शेयर करें

Dehradun News: एक ओर सरकार ने सफेद कार्डधारकों को कार्ड जमा करने के निर्देश दिये है तो वहीं अब पीले राशन कार्डधारकों को जून 2022 से मार्च 2023 तक गेहूं की जगह चावल दिया जाएगा। भारत सरकार के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के अपर सचिव ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। बता दें कि अभी पीले राशन कार्डधारकों को पांच किलो गेहूं 8.60 रुपये प्रतिकिलो और 2.5 किलो चावल 11 रुपये प्रतिकिलो की दर से दिया जाता था। लेकिन अब आदेश जारी होने के बाद अगले माह से चावल दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: खाने में नॉनवेज के बजाय बीबी ने बनाई दाल तो जमकर की धुनाई, फिर ऐसे किया हाई वोल्टेज ड्रामा

बताया जा रहा है कि गर्मी के कारण गेहूं की पैदावार में कमी दर्ज की गई है। रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते भी विश्व में गेहूं की डिमांड बढ़ गई है। इस कारण कई सौ मीट्रिक टन गेहूं निर्यात किया जा चुका है। अब भारत सरकार ने गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। गेहूं का उत्पादन कम होने के कारण भारत सरकार ने पीले राशन कार्डधारकों के कोटे में गेहूं की कटौती कर दी है। प्रदेश में 995858 पीले राशन कार्डधारक हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: बाप ने किया सो रहे बेटे पर कुल्हाड़ी से वार, हालत गंभीर

भारत सरकार के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के अपर सचिव अरुण कुमार ने इस संबंध में उत्तराखंड के मुख्य सचिव को पत्र भेजा है। पत्र में कहा कि पीले राशन कार्डधारकों को अब गेहूं की जगह चावल का वितरण किया जाएगा। यह आदेश जून 2022 से लेकर मार्च 2023 तक लागू रहेगा। केंद्र सरकार राज्य के पीले राशन कार्डधारकों के लिए प्रतिमाह 5669 मीट्रिक टन गेहूं और 2792 मीट्रिक टन चावल का आवंटन करती थी।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *