उत्तराखंड: नवरात्रि पर देवभूमि की बेटियों ने बढ़ाया मान, पहली बार फतह की 6220 मीटर ऊंची पिकॉक चोटी…

सीबीटीएस SBTS
खबर शेयर करें

DHARCHULA NEWS: आज बेटियां हर क्षेत्र में आगे है। पहाड़ से लेकर मैदान तक उत्तराखंड की बेटियों ने देवभूमि का मान बढ़ाया है। खेल के मैदान से बॉलीवुड जगत तक, सेना हो या फिर विदेश सेवा हर क्षेत्र में बेटियों का दबदबा है। अब सीबीटीएस की छह सदस्यीय महिला टीम ने 6220 मीटर ऊंची पिकॉक चोटी फतह कर नया रिकार्ड बनाया है। यह पहली बार हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: खाने में नॉनवेज के बजाय बीबी ने बनाई दाल तो जमकर की धुनाई, फिर ऐसे किया हाई वोल्टेज ड्रामा

जानकारी देते हुए सीबीटीएस के संस्थापक योगेश गब्र्याल ने बताया कि यह पहला मौका है जब कोई भारतीय दल कैलाश रेंज की दूसरी सबसे ऊंची चोटी चढऩे में सफल रहा। दल ने फस्र्ट इंडियन एसेंट रिकार्ड अपने नाम किया है। इससे पूर्व ब्रिटेन के प्रख्यात पर्वतारोही मार्टिन मोरन के दल ने इस चोटी का आरोहण किया था।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: अपात्रों को राशनकार्ड निरस्त करने का आखिरी मौका, पढि़ए पूरी खबर

आदि कैलाश रेंज की दूसरी सबसे बड़ी चोटी पर आरोहण के लिए टीम लीडर शीतल की अगुवाई में छह सदस्यीय दल को प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आठ सितंबर को नैनीताल से रवाना किया था। आरोहण की पूरी रूपरेखा एवरेस्ट विजेता योगेश सिंह गब्र्याल ने तय की थी। दल में शामिल महिलाओं ने 4750 मीटर की ऊंचाई पर अपना बेस कैंप बनाया और 29 सितंबर की सुबह दल 6220 मीटर ऊंची चोटी चढऩे में सफल रहा। इस दल में शीतल, कला बड़ाल, मीनाक्षी राठौर, यादनीकी मितेरे, ध्रुवी मोदी, द्रौपदी रौंकली शामिल थीं।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *