उत्तराखंड: (बड़ी खबर)-पहाड़ में पति ने पत्नी की हत्या के बाद जलाया शव, मायके से ले गया था बुलाकर…

Ad
खबर शेयर करें

PITHORAGADH CRIME NEWS: पहाड़ में लगातार अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही है। पिछले कुछ सालों से शांत रहने वाले पहाड़ में बलात्कार और हत्या जैसे अपराध बढ़े है। अब पिथौरागढ़ जिले में एक पति ने अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार उसका शव जला दिया। शुक्रवार की सुबह पिथौरागढ़ से सटे मैथाना गांव के कुछ लोग दूध लेकर बाजार की ओर जा रहे थे। इस दौरान उन्हें गधेरे यानी तालाब के पास धुंआ उठते नजर आया। करीब जाने पर उन्हें महिला का शव दिखाई दिया। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। महिला का चेहरा और छाती का भाग जला हुआ था। पुलिस ने आस-पास के लोगों से मृतका की शिनाख्त की कोशिश की, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

Ad

गधेरे में मिला अधजला शव

महिला के अधजले शव मिलने की सूचना पूरे जिले में फैल गई। ऐसे में पिथौरागढ़ से करीब आठ किलोमीटर दूर रियांसी गांव की एक महिला के रात में घर नहीं लौटने पर परिजनों को आशंका हुई। इसके बाद मौके पर पहुंची रियांसी निवासी सुनीता देवी ने शव की शिनाख्त की। शव उनकी अपनी बेटी आनंदी देवी उम्र 25 वर्ष का निकला। सुनीता देवी ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी का विवाह छह साल पूर्व छेड़ा गांव निवासी कृष्ण कुमार के साथ हुआ था। दोनों की पांच वर्ष की एक बेटी है। उसकी बेटी अपने पति कृष्ण कुमार के साथ न रहकर पिछले तीन माह से मायके रियांसी में ही रह रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः जिला पंचायत अध्यक्ष ने इस अधिकारी को लगाई फटकार, सुधर जाओ, नहीं तो बाहर कर दूंगी…

मायके से ले गया पत्नी को बुलाके

वहीं अज्ञात शव मिलने की खबर जब सुनीता को मिली तो उसकी आशंका प्रबल हो गई। वह अपने दामाद को लेकर पहले से ही आशंकित थी। जिसके बाद मोर्चरी पहुंचकर अपनी बेटी आनंदी के रूप में उसकी शिनाख्त की। मृतका की मां सुनीता देवी पत्नी नरेन्द्र कुमार निवासी मल्ला रियांसी पोस्ट वड्डा पिथौरागढ़ ने तहरीर दी कि उनकी पुत्री मृतका आनन्दी देवी का विवाह पांच वर्ष पूर्व किशन कुमार के साथ हुआ था। उनकी पुत्री विगत तीन माह से उनके साथ मायके में रह रही थी। बुधवार को किशन कुमार उनके घर रियांसी आया तथा मृतका आनन्दी देवी व उसकी पुत्री आरती को जबरदस्ती अपने साथ ले गया। करीब 2.30 बजे किशन कुमार ने सुनीता देवी के पुत्र को फोन करके बोला कि वह शाम तक आनन्दी को घर भेज देगा, परन्तु वह घर नही आयी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः भाजपा ने की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्यों की घोषणा, देखिये पूरी लिस्ट...

पहले पीटा फिर जलाया शव

सुनीता देवी ने बताया कि किशन कुमार पूर्व में भी कई बार धमकियां दे चुका था। तहरीर के आधार पर कोतवाली पिथौरागढ़ में धारा 302,304बी में मुकदमा कि या गया। एसएसपी लोकेश्वर सिंह ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया। जिसके बाद शुक्रवार को आरोपी किशन कुमार पुत्र रमेश राम निवासी छेड़ा पिथौरागढ़ उम्र 28 वर्ष को गिरफ्तार किया गया। मृतका आनंदी देवी को घर लाने के बाद पति कृष्ण कुमार ने बेरहमी से पीटा, जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद शह को गधेरे में जलाकर सबूत मिटाने की कोशिश की। आज मामले का खुलासा किया। कृष्ण कुमार बिण क्षेत्र में एक वेल्डिंग की दुकान में काम करता है और पास में ही कमरा किराए में लेकर रहता है।

Ad
Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *