उत्तराखंड: दोस्त ही निकला हत्याकांड का मास्टर माइंड, ऐसे कर दी एक साथ चार लोगों की हत्या…

NANAKMATTA HATYAKAND
खबर शेयर करें

NANAKMATTA CRIME NEWS: उधम सिंह नगर जनपद अंतर्गत नानकमत्ता में 6 दिन पूर्व ज्वेलर्स व उसके तीन परिजनों की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस नर्तक ज्वेलर्स के दोस्त और उसके तीन साथियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार हत्याकांड को लूटपाट के इरादे से अंजाम दिया गया था। हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को डीजीपी ने दस हजार व नानकमत्ता विधायक प्रेम सिंह राणा ने ग्यारह हजार का नगद पुरस्कार दिया है।

बता दे कि उधम सिंह नगर जनपद के नानकमत्ता थाना क्षेत्र में 29 दिसंबर को नानकमत्ता बाईपास पुल के पास झाड़ियों में दो लाशें से मिली थी, जिनकी पहचान अंकित रस्तोगी वह उसके भांजे के रूप में हुई थी। साथ ही अंकित रस्तोगी के घर में उसकी मां और नानी की भी लाश मिली थी। पुलिस द्वारा इस हत्याकांड के खुलासे के लिए 5 टीमें बनाकर तेजी से जांच शुरू कर दी गई थी। सोमवार को डीआईजी निलेश आनंद भरने और एसएसपी उधम सिंह नगर दिलीप सिंह कुंवर ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक अंकित रस्तोगी के दोस्त रानू रस्तोगी ने अपने तीन साथियों मुकेश वर्मा, राहुल वर्मा निवासी रुद्रपुर और सचिन सक्सेना निवासी खटीमा के साथ मिलकर इस पूरे हत्याकांड को लूट के इरादे से अंजाम दिया था। पुलिस ने अभियुक्तों के पास से लूट के पैतीस हजार रुपये व वैगनआर कार बरामद की है।

यह भी पढ़ें 👉  UKSSSC पेपर लीक: एसटीएफ के हाथ लगा और एक नकल माफिया, स्कोर पहुंचा 34

जहां पुलिस ने रानू रस्तोगी, मुकेश वर्मा और राहुल वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं सचिन सक्सेना अभी फरार है। हत्याकांड का खुलासा करने पर स्थानीय विधायक प्रेम सिंह राणा ने पुलिस टीम को 11,000 किसान संगठन ने 5000 साथ ही ग्राम प्रधान संघ ने 5000 की नगद धनराशि इनाम में दी है।वही डीआईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरने व एसएसपी ने नानक मत्ता पहुँच हत्या कांड का खुलासा किया है।

29.12.2021 को करीब 13.00 बजे सूचना प्राप्त हुई कि देवा नदी के किनारे ग्राम सिद्धानवदिया के पास 02 शव पड़े हैं इस सूचना पर नानकमत्ता पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि 2 व्यक्तियों के गले धारदार हथियार से रेत कर व घोप कर निर्मम हत्या कर दी गयी थी उक्त शवों की पहचान करने पर शव अंकित रस्तोगी उर्फ अजय पुत्र शिवशंकर रस्तोगी निवासी नानकमत्ता उम्र करीब 28 वर्ष व उदित रस्तोगी पुत्र अनिल रस्तोगी निवासी कस्बा शाही जिला बरेली उम्र 21 वर्ष के रूप में हुयी। मौके पर जानकारी प्राप्त हुयी कि मृतक अंकित के घर में स्थिति संदिग्ध है जिस पर नानकमत्ता पुलिस मृतक के घर पहुंची तो घर के अन्दर अंकित रस्तोगी की माता आशा देवी पत्नी शिवशंकर रस्तोगी उम्र 55 वर्ष व नानी सन्नो देवी पत्नी स्व0 हजारा सिंह निवासी शाही जिला बरेली उम्र 75 वर्ष के शव बरामद हुये जिनके गले भी धारदार हथियार से रेत कर निर्मम हत्या की गयी थी। उपरोक्त 04 लोगों की निर्मम हत्या की घटना से नानकमत्ता क्षेत्र में दहशत व असुरक्षा का माहौल उत्पन्न हो गया। उक्त घटना के सम्बन्ध मे वादी श्री आदेश कुमार की तहरीर के आधार पर थाना नानकमत्ता मुकदमा मे FIR NO. 351/2021 U/S, 302/201 IPC बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। उच्च अधिकारी गण सूचना पाकर तुरन्त मौके पर पहुंचे व डॉग स्क्वॉड टीम व फोरेन्सिक टीम व एस०ओ०जी०/ सर्विलांस टीम व जनपद ऊधम सिंह नगर के समस्त थानों से कुशल अधिकारी गण व कर्मचारी गण को एकत्रित किया गया व श्रीमान् उप महा निरीक्षक महोदय कुमाऊं परिक्षेत्र, नैनीताल के आदेश के क्रम में श्रीमान् वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद ऊधम सिंह नगर के दिशा निर्देशन में श्रीमान् पुलिस अधीक्षक नगर महोदय व श्रीमान् पुलिस अधीक्षक क्राईम के नेतृत्व में सीसीटीवी फुटेज अवलोकन करने, सुरागरसी पतारसी, पूछताछ करने व सर्विलांस हेतु 20 टीमों का गठन किया गया। मृतक अंकित रस्तोगी के सगे सम्बन्धी व मित्रमण्डली व संदिग्ध व्यक्तियों से गहनता से पूछताछ करते हुए घटनास्थल के आसपास सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन व सुरागरसी पतारसी करते हुए कड़ी से कड़ी जोड़ कर दिनांक 03/01/2022 पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त रानू रस्तोगी, विवेक वर्मा, मुकेश वर्मा उर्फ राहुल को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त आला कत्ल वाहन कार बैगनार न०- UA06 E 6212 व लूटे गये 35,000/- रुपये बरामद किये गये। उच्चाधिकारीगण द्वारा पुलिस टीम के उत्तसाह वर्धन व व सफल अनावरण के लिए पुलिस टीम को नगद ईनाम की घोषणा की गयी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: (बड़ी खबर)- अल्मोड़ा जा रही केमू बस दो गांव के पास पलटी, मची चीख- पुकार

मृतक अंकित रस्तोगी कबाड़ के दुकान चलाने का काम करता था करीब एक माह पूर्व मृतक अंकित रस्तोगी ने सुनार की दुकान 30-40 लाख रुपये सोना चांदी की लागत लगाकर खोली थी। अभियुक्त रानू रस्तोगी पुत्र अनिल रस्तोगी मृतक अंकित रस्तोगी का मित्र था जो कि लगातार मृतक के सम्पर्क में रहता था व घर मे आना जाना व घर की स्थिति से बाखूबी वाकिफ था। रानू रस्तोगी की मुलाकात दूसरे अभियुक्त सचिन सक्सेना से हुई जो कि शातिर किस्म का गैंगस्टर अपराधी है इनके द्वारा अपने दो अन्य साथियो विवेक वर्मा, मुकेश वर्मा के साथ मिलकर आपराधिक षड्यन्त्र रचकर दिनांक 28/12/2021 को लूट / डकैती करने के उद्देश्य से मृतक अंकित रस्तोगी व उदित रस्तोगी को किसी बहाने से घर से बाहर बुलाकर देवा नदी के किनारे ग्राम सिद्धानवदिया ले जाकर डंडे व रोड से वार करते हुए घायल कर दिया व सर्जिकल ब्लेड से अंकित व उदित रस्तोगी के गले रेतकर निर्मम हत्या कर दी गयी इसके उपरान्त अभियुक्तगण मृतक के घर पर पहुंचें व मृतक की माँ आशा देवी व नानी सन्नो देवी की हंसिये से गले रेतकर निर्मम हत्या करते हुए दुकान से करीब 40,000/- रुपये लूट कर ले गये परन्तु अभियुक्तगण सुनार की दुकान में लाँकर खोल व तोड़ नही पाये और मौके से फरार हो गये। इसके अतिरिक्त मास्टर अखिलेश की भूमिका के सम्बन्ध में जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *