उत्तराखंड: इस जिले के निजी अस्पताल में हुई 65 कोरोना मरीजों की मौत, कोविड कंट्रोल रूम को नहीं दी जानकारी

corona deth body Uttarakhand

file photo

खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Uttarakhand: एक तरफ कोरोना तेजी से फैल रहा है वहीं दूसरी तरफ निजी अस्पताल अपनी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे है। कई मरीजों से अधिक पैसे वसूलने तो कही बिना बिल दवा देने के मामले मेंं अभी तक कई अस्पतालों पर कार्यवाही हो चुकी है। एक हरिद्वार जिले में एक ऐसा मामला आया जिसने सभी को चौका कर रखा दिया। यहां एक निजी अस्पताल ने अपने यहां हुए कोरोना मरीजों की मौत का आंकड़ा छुपा दिया। अब 19 दिनों के बाद अस्पताल में 65 मरीजों की मौत का खुलासा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ाः (Big News)-अनुसूचित जाति के नेता जगदीश हत्याकांड में बड़ा खुलासा, यहां की गई हत्या

दरअसल हरिद्वार स्थित बाबा बर्फानी हॉस्पिटल प्रशासन ने कोरोना मरीजों की मौत की सूचना स्वास्थ्य विभाग को नहीं दी है। सरकार की ओर से पूर्व में भी कोरोना का इलाज कर रहे अस्पतालों को निर्देश दिए गए कि कोरोना मरीजों की मौत की सूचना 24 घंटे के भीतर राज्य कोविड कंट्रोल रूम को दें। लेकिन अस्पताल प्रशासन ने यह आंकड़ा छिपाते हुए बड़़ी लापरवाही की।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा:(बड़ी खबर)-कमिश्नर को दिए सल्ट में अनुसुचित जाति के युवक की हत्या की जांच के आदेश, एससी आयोग एक्शन में

बताया जा रहा है कि बाबा बर्फानी हॉस्पिटल में 25 अप्रैल से 12 मई तक उपचार के दौरान 65 कोरोना मरीजों की मौत हुई थी। लेकिन अस्पताल प्रशासन ने इसकी सूचना राज्य कोविड कंट्रोल रूम को नहीं दी गई। इस संबंध में राज्य कोविड कंट्रोल रूम के चीफ आपरेटिंग आफिसर डॉ. अभिषेक त्रिपाठी का कहना है कि कोरोना मरीजों की मौत की सूचना समय पर न देने के मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। इस मामले की जांच की जा रही है जिसके बाद पूरा मामला खुल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *