हल्द्वानी: गोरापड़ाव गोलीकांड में दो गिरफ्तार, सामने आई ये वजह, हरियाणा से जुड़े है तार…

GOLIKAND HALDWANI
खबर शेयर करें

HALDWANI CRIME NEWS: आज पुलिस ने गोरापड़ाव गोलीकांड का खुलासा करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। घायल के बयानों में यह तथ्य प्रकाश में आया कि घायल कौस्तुभानन्द के बेटे ललित मोहन कुछ ट्रान्सपोर्टरों के साथ कई सालों से व्यवसाय के संबंध में लेन-देन था जिस क्रम में उसकी काफी अधिक देनदारी ट्रान्सपोर्टरों के ऊपर थी जिसको लेकर ट्रान्सपोर्टरों का कौस्तुभानन्द के साथ पंचायत भी हुई थी जिसमें कोई हल नही निकला था ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: बारात में न ले जाने पर दोस्त ने दूल्हे को भेजा 50 लाख का नोटिस, बोला दिल में चुभ गई बात…

पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर घटना में शामिल दो अभियुक्तों को आज घटना में प्रयुक्त वाहन व असलाहों सहित गिरफ्तार किया गया है । पूछताछ में यह तथ्य सामने आया कि अमरजीत उर्फ मीनू पंजाब केरला रोडवेज ट्रान्सपोर्ट मैनेजर के रूप में कार्य करता है जिसका कौस्तुभानन्द के बेटे ललित मोहन के साथ देनदारी थी जिस कारण पैसे वापस करने हेतु दबाब बनाने के लिए साथ मिलकर फायरिंग की घटना को अंजाम दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: नैनी झील में मिली पीएम मोदी के साथ योग करने वाली बच्ची की मां की लाश, परिवार में मचा कोहराम

बरामद वाहन की जांच की गयी तो वाहन में नम्बर प्लेट HR12AH – 0761 की लगी हुई है जबकि जांच में उक्त वाहन HR20AD- 0999 नम्बर से रजिस्टर्ड होना पाया गया अभियुक्तों द्वारा घटना के बाद पुलिस से बचने की नियत से वाहन में फर्जी नम्बर प्लेट लगाया गया है जिस संबंध में गहनता से जांच की जा रही हैआरोपियों में अमित उर्फ मित्ता पुत्र कृष्ण कुमार निवासी ग्राम नहला थाना बूना जिला फतेहाबाद हरियाणा और अमरजीत सिंह उर्फ मीनू पुत्र बलवान निवासी किच्छा रोड थाना रूद्रपुर जिला उधमसिंह नगर को गिरफ्तार किया गया है जबकि मोनू उर्फ मुण्डी निवासी फतेहाबाद हरियाणा अभी फरार चल रहा है। अमित के खिलाफ हरियाणा में कई मामले दर्ज है। घटना में इस्तेमाल एक तमन्चा 315 बोर, 02 जिन्दा कारतूस, एक कन्ट्रीमेड पिस्टल 32 बोर मय एक मैग्जीन व 03 जिन्दा कारतूस 32 बोर बरामद की गई है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *