हल्द्वानीः निजी स्कूल की शिक्षिका ने मौत को लगाया गले, मरने से पहले सहेली को किया फोन…

खबर शेयर करें

Haldwani News: मुखानी क्षेत्र में संदिग्ध परिस्थितियों में एक शिक्षिका ने मौत को गले लगा लिया। बताया जा रहा है कि शिक्षिका ने पहले जहर गटका फिर अपनी सहेली और परिवार को फोन किया। आनन-फानन में उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। आगे पढ़िए…

पुलिस अनुसार बिठौरिया हरिपुर नायक निवासी गीतांजलि देउपा उम्र 26 वर्ष पुत्री मनोहर सिंह देवपा की शादी दो साल पहलेमल्ला लोहरियासाल मुखानी निवासी अभिनव मेहरा के साथ हुई थी। मृतका एक निजी स्कूल की शिक्षिका थी। बताया जा रहा है कि सोमवार की दोपहर अचानक गीतांजलि घर से निकल कर चारधाम मंदिर स्थित जंगल पहुंच गई। जहां उसने संदिग्ध परिस्थितियों में जहर खा लिया। आगे पढ़िए…

जहर खाने के बाद उसने अपनी एक सहेली और परिवार को फोन किया। इस दौरान उसने कहा कि अगर आखिरी बार देखना चाहते हो तो चारधाम मंदिर आ जाओ। आनन-फाान में उसकी सहेली मौके पर पहुंची। वहां देखा तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। गंभीर हालत में गीतांजलि देख वह उसे कालाढूंगी रोड स्थित एक निजी अस्पताल लेकर पहुंची। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: कैबिनेट की बैठक आज, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

देर रात उसकी मौत हो गई। गीतांजलि की डेढ़ साल की बेटी है। बेटी मौत के खबर मायके वालों को लगी तो उन्होंने ससुरालियों और पति पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। आरोप है कि ससुराली बेटी को प्रताड़ित करते थे। लेकिन पुलिस को तहरीर नहीं दी है। पुलिस को शव को पोस्टमार्टम कर शव परिजनों सौंप दिया है। मुखानी थानाध्यक्ष रमेश बोहरा का कहना है कि अभी तक फिलहाल किसी भी पक्ष से कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर मामले की जांच की जायेंगी।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]