उत्तराखंडः व्हाट्सएप पर लगाया स्टेटस “मुझे अब जीने का अधिकार नहीं है”, फिर नहर में कूद गई SBI की महिला कर्मचारी

selfi river dwoun uttarakhand
खबर शेयर करें

champawat News : खटीमा की एक युवती ने चंपावत जिले के टनकपुर के सैलानीगोठ नहर में छलांग लगा दी। युवती के चप्पल, पर्स और मोबाइल नहर के पास मिले हैं। पुलिस युवती की तलाश कर रही है। फिलहाल उसका पता नहीं चल रहा है। नहर में छलांग लगाने से पहले युवती ने अपना व्हाट्सएप स्टेटस अपडेट किया था और नहर की फोटो भी लगाई थी।

जानकारी के अनुसार खटीमा चारूबेटा, बंगाली कालोनी निवासी 22 वर्षीय लता मंडल पुत्री बद्री प्रसाद मंडल बुधवार की शाम टनकपुर के सैलानीगोठ पहुंची और उसने नहर में छलांग लगा दी। नहर के पास किसी की चप्पल, पर्स और मोबाइल पड़ा होने की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः (सनसनीखेज)-धारचूला में नाना ने दो साल के नाती की गर्दन काटी, बचाव में आये दादा की दो अंगुलियां कटी...

पर्स से मिले पहचान पत्र के आधार पर पुलिस ने इसकी जानकारी खटीमा स्थित उसके स्वजनों को दी। जिसके बाद स्वजन यहां पहुंचकर चप्पल, पर्स और मोबाइल के आधार पर लता मंडल के होने की पुष्टि की। बताया जा रहा है कि वह व्यक्तिगत कारणों से परेशान थी। उसने अपने व्हाट्सएप के स्टेटस में मुझे अब जीने का अधिकार नहीं है लिखा था और नहर की फोटो भी डाली थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड:(बड़ी खबर)--28 नवंबर को प्रदेश में सावर्जनिक अवकाश घोषित, देखिए आदेश...

लता मंडल वर्तमान में एसबीआइ खटीमा में संविदा कर्मचारी के रूप में तैनात थी। इससे पूर्व वह कांट्रेक्ट में एनएचपीसी बनबसा में भी काम कर चुकी थी। कोतवाल चंद्रमोहन सिंह ने बताया कि गोताखोर तथा एसडीआरएफ के जवान नहर में युवती की खोज कर रहे हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *