उत्तराखंड: (दु:खद)-पूंछ में आतंकियों से मुठभेड़ में देवभूमि के दो लाल शहीद, बेसुध हुई मां और पत्नी…

Two red martyrs of Devbhoomi,
खबर शेयर करें

UTTARAKHAND NEWS: भारत मां की रक्षा के लिए देवभूमि के दो लाल शहीद हो गये। जम्मू के पूंछ जिले के नाढख़ास में आतंकवादियों से मुठभेड़ में टिहरी गढ़वाल के राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और चमोली के राइफलमैन योगंबर सिंह शहीद हो गये। शनिवार को दोनों शहीदों का पार्थिव शरीर उनके गांव लाए जाएंगे। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के दो जवानों के शहीद होने पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

Ad

सीएम धामी ने कहा कि राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह ने देश सेवा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। मुख्यमंत्री ने दोनों शहीद जवानों के स्वजन को इस दुख की घड़ी में धैर्य रखने की कामना की है। वही टिहरी के विमाण गांव निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी के शहीद होने की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। शुक्रवार सुबह 11 बजे पार्वती देवी को फोन पर पति विक्रम सिंह नेगी के शहीद होने की सूचना मिली।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : प्रदेश में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में 259 नए केस...

विक्रम अपने घर का इकलौता बेटा था। उनकी एक बहन है, जिसकी शादी हो चुकी है। शहादत की खबर के बाद से ही विक्रम की 95 वर्षीया दादी रुकमा देवी, मां बिरजा देवी और पत्नी पार्वती बेसुध हैैं। 22 अक्टूबर को विक्रम को फिर घर आना था। उनके घर में पूजा रखी गई थी, लेकिन इससे पहले ही उनके शहीद होने खबर आ गई।

यह भी पढ़ें 👉  UTTARAKHAND GOVT JOB: UKSSSC ने जारी किया नोटिफिकेशन, इस विभाग में 493 पदों निकली भर्ती…

वहीं चमोली जिले के ग्राम सांकरी निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन योगंबर सिंह के शहीद होने की सूचना फोन पर मिलने के बाद से गांव में मातम छाया है। योगंबरसिंह जुलाई माह में ही वह छुट्टी पर घर आए थे। शुक्रवार दोपहर दो बजे सेना मुख्यालय से योगंबर सिंह के स्वजन को उनके शहीद होने की सूचना मिली। तीन साल पहले उनकी शादी कुसुम से हुई थी। उनका एक साल का बेटा अक्षित भी है।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *