उत्तराखंडः अब रोडवेज में यात्री ऐसे करेंगे किराये का भुगतान, परिचालकों को जब हो गर्म…

Ad
खबर शेयर करें

Dehradun News: आये दिन उत्तराखंड रोडवेज अपने बसों में लगातार बदलाव कर रहा है। अब रोडवेज यात्रियों को नई सुविधा दी जा रही है और इसका लाभ यात्रियों के साथ ही परिचालकों को भी मिलेगा। अब यात्री समस्त बसों में क्यूआर कोड स्कैन कर किराये का भुगतान कर सकते हैं।

Ad

जी हां कैशलेश व्यवस्था के अंतर्गत रोडवेज मुख्यालय ने यूपीआइ व अन्य मोबाइल एप के जरिये क्यूआर कोड स्कैन कर किराया भुगतान की सुविधा शुरू कर दी है। बकायदा महाप्रबंधक दीपक जैन इसका आदेश जारी करते हुए बताया है कि माह में जो परिचालक निर्धारित राशि क्यूआर कोड के जरिये एकत्रित कर लेंगे, उन्हें प्रोत्साहन भत्ता अलग से दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः UKPSC इस दिन जारी करेगा पीसीएस मुख्य परीक्षा के प्रवेश पत्र, पढ़िये पूरी खबर…

गौरतलब है कि विगत नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद रोडवेज प्रबंधन ने अपनी बसों में कैशलेश भुगतान की प्रक्रिया तो शुरू कर दी थी, लेकिन टिकट मशीन में क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए सुविधा नहीं थी। यात्री अपने मोबाइल नंबर से रोडवेज की ओर से दिए मोबाइल नंबर पर किराये का भुगतान करते थे। अब बसों में यूपीआई और पेटीएम आदि का क्यूआर कोड स्कैन कर किराया भुगतान की सुविधा भी दे दी गई है। जिसके बाद यात्रियों को यह सुविधा मिल जायेगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: कांग्रेसियों ने निकाली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा, विधायक सुमित हृदयेश ने की शुरूआत…

इस सुविधा पर महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि साधारण व एसी बसों में महीने में परिचालक यदि एक माह में एक लाख रुपये से अधिक किराया क्यूआर कोड के जरिये वसूल करते है तो उसे एक हजार रुपये का प्रोत्साहन भत्ता मिलेगा। इसके अलावा वाल्वो व इलेक्ट्रिक बसों में डेढ़ लाख से अधिक की आय लाने पर यह धनराशि मिलेगी। ऐसे में परिचालकों की बल्ले-बल्ले है।

Ad
Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *