जीवन में रंगों का महत्व, कौन सा रंग पसंद है आपको?

खबर शेयर करें

PAHAD PRABHAT: रंग जीवन को सुन्दर ही नहीं बल्कि उसे रंगीन भी बनाते हैं। यह कथन सर्वथा सत्य है। वास्तव में रंगों के अभाव में सुन्दर जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती, अगर रंग न होते तो यह संसार न होता, और तब शायद ये रंग-बिरंगे फूल, फल, पंछी भी न होते। अपने जीवन को सुन्दर बनाने के लिए मनुष्य रंगों का उपयोग करता है। कहते हैं कि रंगों में जादू होता है और रंग ही है जो मनुष्य के स्वभाव को प्रदर्शित ही नहीं करते बल्कि मनुष्य के जीवन को प्रभावित भी करते हैं। रंग सभी को पसंद होते हैं किसी को काला रंग पसंद होता है तो किसी को सफेद तो किसी को लाल या फिर किसी को दो रंग या फिर उससे ज्यादा रंग पसंद होते हैं। जो रंग मनुष्य अधिक पसंद करता है या उस रंग का प्रयोग अधिक करता है तो उस रंग का प्रभाव उसके स्वभाव और व्यक्तित्व पर सबसे अधिक पड़ता है। इस लेख के माध्यम से अपने पसंदीदा रंग के बारे में जानिये और देखिये कि उस रंग का आपकी भावनाओं और आपके व्यक्तित्व पर क्या प्रभाव पड़ता है।

सफेद रंग- सफेद रंग पवित्रता का प्रतीक माना जाता है। इस रंग को पसंद करने वाले और सफेद वस्त्र धारण करने वाले व्यक्ति सौम्य, आदरणीय, ईमानदार, आत्मविश्वासी, दृढ़ निश्चयी व प्रभावशाली व्यक्तित्व के स्वामी होते हैं। ऐसे व्यक्ति सज्जन व सत्यवादी प्रवृत्ति के होते हैं। सफेद रंग व्यक्ति की ज्ञानेन्द्रियों को नियन्त्रण में रखने की महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।  इसके कारण ज्ञानेन्द्रियों को बहुत कम उत्तेजना मिलती है। इस रंग को पसंद करने वालों में एक बुरी बात यह पाई जाती है कि ये दूसरों के मामले में बहुत अधिक हस्तक्षेप करते हैं। इसके साथ ही यह रंग विशिष्ट व्यक्तियों का रंग है, और विशिष्ट लोगों द्वारा ही पसंद किया जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: ग्रीन वूड्स ग्लोबल स्कूल में मनाया लोकपर्व 'हरेला', सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मची धूम

गुलाबी रंग- जिन व्यक्तियों को यह रंग पसंद होता है वे स्वभाव से बहुत शान्त व निर्मल होते हैं। यह रंग व्यक्ति में आत्मसम्मान की भावना को जागृत करता है। इस रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति प्रेम में विश्वास रखते हैं। इनमें दूसरों से ईष्र्या व द्वेष रखने की भावना नहीं पाई जाती। यह रंग पसंद करने वाले व्यक्ति बहुत भावुक व सरल स्वभाव के होते हैं। छोटी से छोटी बात भी इनके मन को दुखा जाती है। यह समाज में अधिक लोकप्रिय होते हैं।

हरा रंग- यह रंग खुशहाली और सौभाग्य का प्रतीक है। यह व्यक्ति के जीवन को अधिक क्रियाशील बनाता है। हरे रंग उत्तम स्वास्थ्य का प्रतीक भी माना जाता है। इसके साथ ही यह रंग सफेद रंग की भांति शुभ और पवित्र माना जाता है। इस रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति बहुत परिश्रमी व अवसरवादी होते हैं। इन्हें अपने कार्य में किसी का भी हस्तक्षेप पसंद नही होता। ये स्वभाव से हंसमुख और भावुक होते हैं। ये आशावादी भी होते हैं व जीवन में बहुत सफलताएं प्राप्त करते हैं। इनमें ईर्ष्या की भावना का पूर्णतया अभाव पाया जाता है। ये मित्रता की दृष्टि से बहुत विश्वसनीय और अच्छे मित्र साबित होते हैं।

लाल रंग- यह रंग सब रंगों में सबसे अधिक प्रिय और पसंदीदा माना जाता है, लेकिन इसके साथ ही यह भी उल्लेखनीय व महत्वपूर्ण तथ्य है कि यह रंग निम्न वर्ग व अपराधिक प्रवृत्ति रखने वालों को विशेष पसंद होता है। लाल रंग की यह विशेषता मानी गई है कि यह रंग बहुत उत्तेजित करने वाला रंग होता है। यह व्यक्ति में उत्साह एवं स्फूर्ति का संचार करता है। यह बात ध्यान योग्य है कि लाल रंग को खतरे का चिन्ह भी कहा जाता है। इस रंग को पसंद करने वाले लोगों में कुछ विशेषताएं भी होती हैं। इनमें उत्साह, दृढ़ता व आत्मविश्वास की भावना कूट-कूट कर भरी होती है। लाल रंग को पसंद करने वाले स्वभाव से रोमान्टिक व हंसमुख व्यक्तित्व के होते हैं और अपने जैसा स्वभाव रखने वाले व्यक्तियों को पसंद करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: प्रभावित क्षेत्रों का विधायक सुमित ने किया दौरा

काला रंग- यह रंग पसंद करने वाले व्यक्ति गंभीर व दुखी रहने वाले व अत्यधिक भावुक स्वभाव के होते हैं। इन्हें शान्ति पसंद होती है, इन लोगों को खुशी के विपरीत गम उठाने में अधिक आनन्द की अनुभूति होती है। काले रंग को पसंद करने वाले घमंडी नहीं होते। यह लोगों में प्रशंसनीय होते हैं। इनके जीवन में दुख का प्रभाव अधिक देखने को मिलता है।

नारंगी रंग- इस रंग को पसंद करने वाले लोग घमंडी व खुद को पसंद होते हैं। ऐसे व्यक्ति दूसरों पर अपना आधिपत्य जमाने की प्रवृत्ति रखते हैं। ये लोग आत्मनिर्भर बनने के लिए भरपूर प्रयत्न करते हैं। इनमें सबसे आगे निकल जाने की भावना शिद्दत से पाई जाती है। ये अपनी इच्छाओं को हर संभव रूप से पूर्ण करने का प्रयत्न करते हैं इन्हें अपने किसी भी मामले में किसी का भी हस्तक्षेप पसंद नहीं होता। ऐसे लोग सामाजिक कार्यों में अधिक रूचि लेते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः अखिल उद्योग व्यापार मंडल की कार्यकारिणी का विस्तार, डिंपल पांडेय बने नगर अध्यक्ष

पीला रंग- इस रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति एकांत पसंद होते हैं। इस रंग को धारण करने वाले व्यक्तियों को इस रंग से मानसिक और कूटनीतिक क्षमता प्राप्त होती है। वही दूसरी ओर इस रंग को पसंद करने वालों में परिपक्वता और बौद्घिकता भी पाई जाती है।

भूरा रंग- भूरा रंग पसंद करने वाले व्यक्ति शालीन स्वभाव के होते हैं। विश्वसनीयता और ईमानदारी इनके चरित्र के प्रमुख गुण हैं। इस रंग को धारण करने वाले व्यक्ति के मन में गहरे विचार और एकाग्रता आती है  एवं ये कई विशेषताओं के स्वामी भी होते हैं।

नीला रंग- इस रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति अधिकतर स्वार्थी होते हैं इस रंग को धारण करने वाले मानसिक शान्ति का अनुभव करते हैं। यह रंग व्यक्ति को शान्त और तनाव मुक्त करता है। इस रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति वफादार व विश्वसनीय होते हैं। इनके जीवन का कोई न कोई उद्देश्य अवश्य होता है। ये प्रेम सम्बन्धों में बहुत विश्वसनीय होते हैं। ये व्यक्ति जीवन में जिससे भी प्रेम करते हैं उसे पूरी ईमानदारी से निभाते हैं। हालांकि ये लोग दिलफैंक होते हैं मगर बेवफा नहीं होते। अस्वस्थ लोगों के लिए नीले रंग का प्रयोग बहुत उपयोगी रहता है।

बैंगनी रंग- बैंगनी रंग को पसंद करने वाले व्यक्ति अधिकार पसंद होते हैं। यह रंग एकाग्रता स्थापित रखने में बहुत उपयोगी होता है। इस रंग के वस्त्र धारण करने वालों को थकान का कम अनुभव होता है। (फौजया नसीम ‘शाद’-विभूति फीचर्स)

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]