Haldwani: जॉब के नाम से युवक को लग गया सात लाख का चूना, पढ़िए ऑनलाइन ठगी का नया तरीका

खबर शेयर करें

Haldwani News: ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। आए दिन ठगी की खबरें आ रही है। अब साइबर सेल में शिकायत करते हुए एक युवक ने बताया कि उससे जॉब के नाम पर सात लाख की ठगी हुई है। मामला दर्ज करने के बाद पुलिस जांच में जुटी है। युवक ने तहरीर में बताया कि उसके व्हाट्सएप पर किसी अनजान नंबर से जॉब का मैसेज आया। उसने उस नंबर पर बात की तो ठग ने उसे एक लिंक वाला मैसेज भेजा। उस पर युवक ने 210 रुपए भेज दिए। इसके बाद किसी महिला से उसकी बात होने लगी, महिला ने उससे क्रोप्टो में रुपया लगाने की बात कही। इसके बाद उसने यूपीआई के माध्यम से महिला को 1000 रुपए भेज दिए, तो महिला ने उसका ऑक्स पर एक अकाउंट बना दिया। वहा से एक अनजान युवक ने उसे टेलीग्राम में जोड़ दिया।

अज्ञात युवक ने बताया कि वह उसे क्रोप्टो में इन्वेस्ट करना सिखाएगा। इसके बाद उससे बातें होने लगी। अब ठगो का असली खेल शुरू हुआ। सबसे पहले जो उसने 1000 रूपये महिला द्वारा दिए गए लिंक में डाले थे, उसके बदले उसे महिला ने 1500 वापस कर दिए। इसके बाद 3000 रुपए इन्वेस्ट का 4300 रुपए वापस कर दिए। टेलीग्राम ग्रुप में चार लोग और थे। जो रुपए डालते थे। उनके द्वारा दिए खातों पर उसने भी रुपए डाल दिए। 17 मई को पीड़ित ने 7000 डाले, फिर 16750 रुपए डाले। इसके बाद 38400 डाले। 18 मई को 50 हजार, 45790 रुपए तो इसके बाद उन लोगों ने बाते करनी बंद कर दी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पहाड़ से मैदान तक बदलेगा मौसम, बारिश और तूफान का ऑरेंज अलर्ट

इस बीच फाइनेंस मैनेजर ने से बात हुई तो उसके द्वारा बताए गए अकाउंट में 232835 रुपए डाले गए। फिर 19 मई को 85000 रुपए, 225000 रुपए डाले गए। पीड़ित ने कुल 700775 रुपए ठगो के खाते में डाल दिए। उस दिन ठगो ने उसके खाते में 8 लाख की धनराशि दिखाई। कहा की अगर यह धनराशि वापस चाहिए तो 30 हजार रूपए सर्विस फीस देनी होंगी। जब पीड़ित ने कहा कि वह उसके खाते में से फीस की रकम काटकर बाकी रुपए उसे वापस कर दे तो, उन्होंने मना कर दिया। तब मुझे अहसास हुआ कि मेरे साथ ठगी हो गई है। इसके बाद उन्होंने मेरा क्रिप्टो अकाउंट भी डिलीट कर दिया। युवक ने पुलिस से रकम वापसी की गुहार लगाई है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]