हल्द्वानीः शुभनाद संगीत विद्यालय में कलाकारों ने भजनों से किया मंत्रमुग्ध

खबर शेयर करें

Haldwani News: देवभूमि उत्तराखंड कहा जाता हैं जहां। ब्रह्मा विष्णु महेश तीनों देव स्वयं विराजमान है, धन्य है ऐसी नगरी जहा संगीत गायन वादन नृत्य भी मानो स्वयं भगवान हो गए हो, इसी क्रम में शुभनाद संगीत विद्यालय हल्द्वानी द्वारा नवांकुर संगीत व नृत्य बैठक आयोजित किया गया। जिसमें प्रथम प्रस्तुति संगीत विद्यालय की प्रतिभावान छात्रा पूजा पंत ने भजन से की। इसके बाद विद्यालय के संस्थापक पंकज आर्या ने अपनी शानदार प्रस्तुति से मन मोह लिया। उन्होंने गायन की शुरुवात राग बिहाग से की, उसके बाद छोटा ख्याल लट उलझे सुलझा जा बालम से अपनी प्रस्तुति को विराम दिया।

शुभनाद संगीत विद्यालय हल्द्वानी

कार्यक्रम में अतिथि कलाकार आशीष सिंह (नृत्य मंजरी दास) ने अपनी मनमोहक प्रस्तुति से लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया। उन्होंने अपनी नृत्य प्रस्तुति की शुरुवात कृष्ण वंदना भजे व्रजैक मण्डनम, समस्त पाप खण्डनम, से की। इसके बाद भजन पद्म विभूषण पंडित बिरजू महाराज द्वारा रचित श्याम मूरत मन भाए से की। फिर तीनतल में शुद्ध कथक नृत्य की प्रस्तुति दी। थाट, आमद, उठान तोड़ा, टुकड़ा, तिहाई, परमेलू, परण, गतनिकास, और समापन ठुमरी सब बन ठन आई श्याम प्यारी से की। आपके साथ संगत कलाकारों में तबले पर आनंद बिष्ट, गायन और हरमोनियम पर पंकज आर्या, सितार पर हर्षित कुमार और बोल पढ़त पर जया पाठक ने साथ दिया। विद्यालय के संस्थापक पंकज आर्या ने कलाकारों को माल्यार्पण और वृक्ष प्रदान कर उनका स्वागत किया।

Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]