हल्द्वानी: कोरोना का कहर, पल भर में उजड़ गया सस्ता गला विक्रेता का परिवार

corona death haldwani
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Haldwani: कोरोना ने कई परिवारों की खुशियां छीन ली है। प्रदेश में कई बच्चे अनाथ हो गये। ऐसा ही एक मामला हल्द्वानी में आया है। जहां कोरोना ने एक हंसता खेलता परिवार उजाड़ दिया। शहर में सस्ता गल्ला विक्रेता के परिवार में दो दिन में दो सदस्यों की मौत हो गई। दो मौतों से परिवार में कोहराम मच गया।

कुंवरपुर निवासी लाखन सिंह धारियाल 37 की कुंवरपुर में सस्ता गल्ला की दुकान है। परिवार में पिता नर सिंह, माता गीता देवी, भाई, पत्नी और दो पुत्र थे। जानकारी देते हुए पूर्ति निरीक्षक रवि सनवाल ने बताया कि 10 दिन पूर्व परिवार के तीन लोगों को कोरोना हो गया था। जिसके बाद तीनों निजी अस्पताल में भर्ती थे। शुक्रवार सुबह लाखन सिंह की माता गीता देवी की मौत हो गई। शनिवार करीब 11 बजे लाखन सिंह की भी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: uksssc पेपर लीक में 32वी गिरफ्तारी, अब कनिष्ठ सहायक दबोचा

सस्ता गल्ला विक्रेता की पत्नी, एक 9 और एक पांच साल का पुत्र और एक छोटा भाई हैं। लाखन सिंह धारियाल ने दो दिन पहले पूर्ति निरीक्षक को अस्पताल से मैसेज किया था।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा:(बड़ी खबर)-कमिश्नर को दिए सल्ट में अनुसुचित जाति के युवक की हत्या की जांच के आदेश, एससी आयोग एक्शन में

शायद उसे अपनी मौत को अंदाजा हो गया था। इसलिए बार-बार मैसेज कर निवेदन करता रहा कि उसकी मौत के बाद सस्ता गल्ला की दुकान उसकी पत्नी के नाम करा देना, जिससे उसकी पत्नी दो बच्चों को पाल सके। पूर्ति निरीक्षक बार-बार उसे दिलासा देते रहे कि ऐसा कुछ नहीं होगा हिम्मत रखों, लेकिन आखिर में उसने दम तोड़ दिया। पूर्ति निरीक्षक रवि सनवाल ने बताया कि लाखन सिंह धारियाल अपने अंतिम समय में बच्चे और पत्नी को लेकर चिंतित थे। उन्होंने कहा कि वह एक बेटे के पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएंगे। साथ ही दुकान भी पत्नी की नाम की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *