उत्तराखंड: बाइक चोर निकला बीएससी का छात्र, 15 स्पलेंडर बाइकों समेत दरोगा साहब की अपाचे भी उड़ाई

bike chor Haridwar bsc student
खबर शेयर करें

Pahad Prabhat News Haridwar: सट्टेबाजी और महंगे शौक ने एक छात्र को अपराध की दुनियां में धकेेल दिया। वह अपने शौक पूरे करने के लिए बाइकों की चोरी करने लगा। महंगी बाइकों को वह केवल सात हजार में रूपये में बेच देता था। चोरी करते-करते वह इतना शातिर बन गया कि उसने एक एलआईयू दरोगा की बाइक पर भी हाथ साफ कर दिया। एलआईयू दारोगा को इसकी भनक तक न नहीं कि कब उसकी बाइक उड़ गई। आखिरकार वह पुलिस के जाल में फंस गयाजिसके बाद कई खुलासे हुए जिन्हें सुन पुलिस भी दंग रह गई। आगे पढिय़े

Ad

आईपीएल में लगाता था सट्टा

गुरुकुल कांगड़ी विवि में बीएससी की पढ़ाई कर रहे वकुल ने ज्वालापुर के आंबेडकरनगर में किराए पर कमरा लिया हुआ था। वह आईपीएल सट्टे और अपने महंगे शौक पूरे करने के लिए बाइकों की चोरी करने लगा। इस काम के लिए वह गांव के महेश्वरी और लक्सर और सहारनपुर से अपने दोस्तों को बुलाता था। हैरानी की बात यह है कि वह चोरी की महंगी बाइकों को मात्र 7000 रूपये में बेच देता था, इसके बाद वह साथियों में पैसों का बंटवारा होता था। फिर वह आईपीएल में सट्टा लगाता था। जब भी उसके पास सट्टे के लिए पैसे कम पड़ते तो साथियों को बुलाकर बाइक चोरी कर लेता।

गांव में चलती थी चोरी की बाइकें

लोगों को पता होने के बावजूद कम पैसों मेंं मिल रही बाइकों को खरीद रहे थे। जब पुलिस ने खुलासा किया तो लोगों ने चोरी की बाइकें पुलिस को सौंपनी शुरू कर दी। वकुल इनता शातिर हो चुका था कि बाइक बेचने से पहले उसकी नंबर प्लेट हटा देता था। साथ ही खरीदने वाले के लिए शर्त थी कि बाइक शहर में नहीं ले जानी है केवल गांव में चलानी है। पुलिस ने इस गिरोह से कुल 16 बाइकें बरामद की।

स्पलेंडर बाइक थी पसंद

वकुल के चोर गिरोह की स्पलेंडर बाइकें पसंद थी। इसका अंदाजा इसकी बात से लगाया जा सकता है कि चोरी की गई कुल 16 बाइकों में से 15 बाइकें स्पलेंडर हैं। जानकारी देते हुए रेल चौकी प्रभारी खेमेंद्र गंगवार ने बताया कि स्पलेंडर का लॉक कुछ दिन किसी भी दूसरी चाबी से आसानी से खुल जाता है। ऐसे में स्पलेंडर बाइकों को वह निशाना बनाते थे। आम आदमी तो छोड़ो इनके गिरोह ने एलआइयू में तैनात दारोगा अनुसूईया प्रसाद कंडवाल की बाइक ज्वालापुर क्षेत्र से चोरी कर ली। ज्वालापुर कोतवाल चंद्र चंद्राकर नैथानी ने बताया कि एलआइयू दारोगा की अपाचे बाइक पर वकुल और उसके साथ एक शादी में गए थे। वहां कुछ युवक जानते थे कि वकुल बाइक चोरी करता है। इसलिए उनमें से किसी ने शादी के दौरान बाइक चोरी कर ली। हरिद्वार में इस बड़े बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश हो गया।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *