उत्तराखंड: घास लेने गई थी महिलाएं, हाथी ने पटल-पटलकर मार डाला, दूसरी की हालत गंभीर

खबर शेयर करें

कोटद्वार। जंगली जानवरों और मानव के बीच लंबे समय से संघर्ष देखने को मिला है लेकिन पिछले कुछ सालों से गुलदार, भालू और हाथी के हमले तेजी से बढ़ रहे है। आज भी एक हाथी ने महिलाओं पर हमला कर दिया जिसमें एक महिला की मौत हो गई जबकि दूसरी घायल ने भागकर जान बचाई। लैंसडौन वन प्रभाग की कोटद्वार रेंज के अंतर्गत सुखरो व पनियाली बीट के मिलान पर जंगल में चारापत्ती व लकड़ी लेने गई महिलाओं पर हाथी ने हमला कर दिया।

Ad

बताया जा रहा है कि शिवपुर रेशम फार्म निवासी कांति देवी 65 वर्ष व दमयंती देवी 55 वर्ष अपने पड़ोस में रहने वाली सात महिलाओं के साथ जंगल में चारापत्ती लेने गई हुई थी। वह जंगल में लकड़ी एकत्रित कर रही थी, तभी अचानक उन पर हाथी ने हमला कर दिया। हाथी के हमले में कांति देवी घायल होकर जमीन पर गिर गई, जबकि घायल दमयंती देवी ने जंगल की ओर दौडक़र अपनी जान बचाई। इस दौरान जंगल में चीख-पुकार सुनकर अन्य महिलाएं भी दौड़ पड़ी।

यह भी पढ़ें 👉  GOVT JOB: भारतीय वायु सेना में 317 पदों पर निकली बम्पर भर्ती, एक दिसंबर से करें आवेदन...

ग्रामीणों ने हाथी के हमले की खबर मिली तो वह महिलाओं को बचाने के लिए जंगल की ओर दौड़ पड़े। घायल दमयंती की बहन कादंबरी ने बताया कि घटनास्थल पर कांति देवी मृत हालत में पड़ी थी। हाथी ने उसका सिर कुचल दिया था। क्षेत्रवासी कांति देवी का शव लेकर सडक़ तक पहुंचे। जंगल में कुछ दूर पर मिली दमयंती को युवाओं ने 108 की मदद से राजकीय बेस चिकित्सालय लेकर पहुंचे। चिकित्सकों ने बताया कि दमयंती देवी के पैर व हाथ में चोटें आई हुई हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *