उत्तराखंडः (गजब)- महिला के आरोप पर मुकदमा दर्ज, सरकारी अस्पताल में आपरेशन के दौरान एक किडनी गायब…

खबर शेयर करें

Uttarkashi News: एक महिला ने सरकारी अस्पताल के चिकित्सक पर पथरी के आपरेशन के दौरान किडनी चोरी करने का आरोप लगाया है। जिसके बाद सभी हैरान है। इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजीएम) कोर्ट में इस मामले में मुकदमा दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार उत्तरकाशी जिले के मसरी गांव निवासी सुभानी देवी उम्र 34 वर्ष ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को आरोपी चिकित्सक के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर प्रार्थना पत्र सौंपा। सीजेएम कोर्ट ने कोतवाली उत्तरकाशी से 20 मार्च तक रिपोर्ट मांगी है।

आपरेशन के बाद फिर हुआ पेट दर्द

सुभानी देवी का कहना है कि वर्ष 2014 में उसकी तबीयत खराब हुई, तो वह जिला अस्पताल आई। एक अप्रैल से तीन अप्रैल तक वह जिला अस्पताल के सर्जन डा. अश्वनी कुमार चैबे की देखभाल में भर्ती रही। उसे पित्ताशय में पथरी होना बताया गया। इस दौरान जब उसने अल्ट्रासाउंड कराया तो उसकी दोनों किडनी सामान्य थीं। जिला अस्पताल में नौ अप्रैल 2014 को डा. अश्वनी कुमार चैबे ने फिर से भर्ती कराया और 11 अप्रैल को आपरेशन किया। उपचार के बाद वह 17 अप्रैल को घर आई। इसके कुछ समय बाद दोबारा पेट में दर्द शुरू हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  Haldwani: भ्रष्टाचार मुक्त रहा केंद्र सरकार के 10 वर्ष का शासन: दुष्यंत गौतम

अल्ट्रासाउंड में खुला राज

शुरूआत में उसने दर्द को अनदेखा कर दिया, लेकिन जब ज्यादा ही दर्द बढ़ने लगा तो 27 जनवरी वर्ष 2023 को कोरेनेशन अस्पताल देहरादून में भर्ती हुई। वहां अल्ट्रासाउंड में चिकित्सकों ने एक किडनी न होने की जानकारी दी गई। जिसके बाद उसे पैरों तले जमीन खिसक गई। इसके बाद उसने उत्तरकाशी जिला अस्पताल और देहरादून के एक निजी अस्पताल में भी अल्ट्रासाउंड जांच कराई। सुभानी ने कहा कि उन्होंने केवल पित्ताशय में पथरी का आपरेशन आरोपी चिकित्सक से कराया था। उसके अलावा कोई भी आपरेशन नहीं कराया है।

यह भी पढ़ें 👉  Haldwani: हल्द्वानी में कॉग्रेस को लगा झटका, अब इन्होंने थामा बीजेपी का दामन

फिर हिमाचल में कराई जांच

पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसकी एक किडनी पित्ताशय का आॅपरेशन करने वाले चिकित्सक ने गायब की है। उसने बताया कि यहां कोई भी अस्पताल उनकी किडनी का कलर डाप्लर अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन कराने के लिए तैयार नहीं हुआ। इसके बाद वह राय अस्पताल एंड मैटरनिटी सेंटर रोहडू शिमला हिमाचल प्रदेश गई। जहां चिकित्सकों ने बताया कि जो किडनी गायब हुई है, उस जगह पर घाव बना हुआ है। जिसका उपचार वही चिकित्सक कर सकता है जिसने आपरेशन किया। इसक बाद उन्होंने जिला अस्पताल उत्तरकाशी में सूचना का अधिकार के तहत आपरेशन संबंधित जानकारी मांगी, लेकिन जिला अस्पताल की ओर से सूचना नहीं दी गई। बताया जा रहा है कि आरोपी चिकित्सक वर्तमान में ऊधम सि‍ंह नगर जिले में तैनात है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पहाड़ प्रभात डैस्क

संपादक - जीवन राज ईमेल - [email protected]

You cannot copy content of this page