उत्तराखंड: अध्यक्ष जगदीश आगरी व दिनेश बने उपाध्यक्ष, दिल्ली में ढोल, दमाऊ यूनियन की कार्यकारिणी का गठन

JAGDISH AAGARI
खबर शेयर करें

PAHAD PRABHAT NEWS DELHI: आज दिल्ली एनसीआर में दुर्गा माता प्रांगण में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें ढोल-दमाऊ छोलिया नृत्य यूनियन की कार्यकारिणी का गठन किया गया। लंबे समय से पहाड़ के लोककलाकार दिल्ली में रहकर पहाड़ की संस्कृति को आगे बढ़ा रहे है। ऐसे में उत्तराखंड की संस्कृति का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार के लिए आज कार्यकारिणी का गठन किया गया।

Ad
Ad

ढोल, दमाऊ, छोलिया नृत्य यूनियन की कार्यकारिणी संस्थापक किशन सिंह बिष्ट, अध्यक्ष जगदीश आगरी,उपाध्यक्ष दिनेश रावत, कोषाध्यक्ष प्रकाश आर्य, उपकोषाध्यक्ष संदीप इजराइल, महासचिव रमेश बिष्ट, सचिव कुलदीप गढ़वाली, सचिव निजी देबेन्द्र कुमार, व्यस्थापक रमेश उपाध्याय, सांस्कृतिक सचिव हरीश शर्मा, सांस्कृतिक सचिव जगमोहन, संगठन मंत्री बृजमोहन गुसांई, मीडिया प्रभारी हिमांशु, मीडिया प्रभारी हरीश, मंच संचालक गणेश चंद्र बेरी और सचिव की जिम्मेदारी दिनेश नेगी को दी गई है। जगदीश आगरी को निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: (BIG NEWS)- ट्रैकिंग के लिए गए 9 ट्रैकर्स की मौत, छह लापता की खोज में जुटी वायुसेना...

इस मौके पर नवनियुक्त अध्यक्ष जगदीश आगरी ने कहा कि वह लंबे समय से उत्तराखंड की संस्कृति के प्रचार-प्रसार में जुटे है। ऐसे में लोगों को एकमंच पर लाना जरूरी था। जिससे सभी कलाकारों को एक-दूसरे का सहयोग मिल सकें। कोरोनाकाल मेें सबसे ज्यादा अनदेखी लोककलाकारों की हुई। जिन्होंने दिल्ली जैसे बड़े शहर में उत्तराखंड की संस्कृति और लोककला को एक नई पहचान दिलाई है। उनका उद्देश्य ढोल, दमाऊ और छोलिया कलाकारों को को एक मंच पर लाना है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: दूरी हुई कम, हल्द्वानी से पिथौरागढ़ के लिए रोडवेज बस सेवा शुरू...

बता दें कि ढोल, दमाऊ, छोलिया नृत्य यूनियन का उद़्देश्य वाद्य कलाकारों का हौंसला बढ़ाते हुए उन्हें सम्मान दिलाना है। साथ ही पुराने कलाकारों को सम्मान देते हुए उनसे शिक्षा लेना है। आज कार्यकारिणी के गठन के बाद सभी कलाकार नये जोश और ऊर्जा के साथ उत्तराखंड की लोकसंस्कृति और लोककला को संवारने में जुट गये है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *